विटामिन ई के फायदे

आज हम आपको विटामिन ई के फायदे के बारे में बताएगें। वैसे तो आपने विटामिन ई के बारे में कई बार सुना या पढ़ा होगा। विटामिन ई कई तरह के फलों, तेलों और ड्राय फ्रूट्स में पाया जाता है। यह सेहत के साथ साथ सौन्दर्य के लिए भी बहुत लाभकारी होता है।

विटामिन ई से हमें कई फायदे प्राप्त होते हैं जैसे कि यह बेहतरीन क्लींजर, आरबीसी निर्माण, मानसिक रोग,एंटी एन्जिंग आदि के रूप में पयोग में आता है। आइये विस्तार से जानते हैं विटामिन ई के फायदे के बारे में।

बेहतरीन क्लींजर

विटामिन ई का उपयोग अक्सर कई तरह के सौन्दर्य प्रसाधनों में किया जाता है। इसके उपयोग का मुख्य कारण हैं कि यह एक बेहतरीन क्लींजर होता है जो त्वचा की सभी परतों पर जमी हुई गंदगी और मृत कोशिकाओं की सफाई करने में सहायक होता है।

दिल की बीमारी का खतरा कम करें

शोध के अनुसार जिन लोगों के शरीर में विटामिन ई की मात्रा अधिक होती है। उनको दिल से जुडी हुई बीमारी का खतरा कम होता है। यह मेनोपाज के बाद महिलाओं में होने वाले हार्ट स्ट्रोक की संभावना को भी कम करता है।

एंटी एजिंग

विटामिन ई में भरपूर ,मात्रा में एंटी ऑक्सीडेंट पाएं जाते है जो त्वचा की बढती हुई उम्र को कम करते हैं। इसके इलावा यह चेहरे पर पड़ी हुई झुर्रियों को कम करने में भी सहायक होते हैं।

आरबीसी निर्माण

शरीर में रेड सेल्स अर्थात लाल रक्त की कोशिकाओं के निर्माण करने के लिए विटामिन ई बहुत ही सहायक होता है। प्रेगनेंसी के दौरान विटामिन ई का सेवन बच्चे को एनीमिया अर्थात खून की कमी से बचाता है।

मानसिक रोग

एक शोध से यह पता चला है कि जिन लोगों में विटामिन ई की कमी होती है। उनमें मानसिक रोग होने की संभावना अधिक होती है। शरीर में विटामिन ई की पर्याप्त मात्रा मानसिक तनाव और अन्य समस्याओं को कम करने में मदद करती है।

प्राकृतिक नमी प्रदान करें

आपकी त्वचा को प्राकृतिक नमी प्रदान करने के लिए विटामिन ई बेहद फायदेमंद साबित होता है। इसके इलावा यह त्वचा में कोशिकाओं के नव निर्माण में भी बहुत ही सहायता करता है।

युवी किरणों से बचाव

सूरज द्वारा पैदा होने वाली हानिकारक किरणों से बचाने में विटामिन ई महत्वपूर्ण भूमिका को निभाता है। यह सनबर्न की समस्या या फोटोसेंसटिव होने वाली समस्याओं से रक्षा करता है।

अल्जाइमर की समस्या को कम करें

विटामिन ई का प्रयोग करने पर अल्जाइमर जैसी समस्याओं का खतरा कम हो जाता है। इसके इलावा यह कैंसर से भी लड़ने में सहायक होता हैं। जिन लोगों को कैंसर की संभावना होती है। उनके शरीर में विटामिन ई की मात्रा कम होती है।

डायबिटीज के खतरे को कम करें

डायबिटीज में क्या करें जाने हिंदी में और कैसे करें मधुमेह के खतरे को कम, diabetes mein kya karen aur kya na karen in hindi

विटामिन ई की पर्याप्त मात्रा डायबीटीज के खतरे को कम करने में मदद करती है। यह ब्रेस्ट कैंसर की रोकथाम, इम्यून सिस्टम को मजबूती प्रदान करने के साथ साथ एलर्जी से भी बचाव करता है।

कोलेस्ट्रोल क मात्रा को कम करें

विटामिन ई के फायदे में एक फायदा यह है कि यह कोलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करता है और शरीर में वसीय अम्लों के संतुलन को बनाए रखने में सहायता करता है। इसके साथ ही यह थायराइड और पिटयुटरी ग्रन्थि के कार्य में होने वाले अवरोध को रोकता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।