गर्भावस्था में ग्रीन चाय पीने के फायदे

गर्भावस्था में ग्रीन चाय पीने के फायदे जाने ताकि आप प्रेगनेंसी में देखभाल कर सकें एक बेहतर तरीके से, green tea health benefits during pregnancy in hindi

हरी चाय कितनी लोकप्रिय है इस बात से तो सभी लोग जानते हैं। हरी चाय का सेवन सेहत के लिए  बहुत फायदेमंद होता है जबकि नींबू वाली चाय भी बहुत फायदेमंद होती है। आज हम बात करेंगें गर्भावस्था में हरी चाय पीने के फायदे के बारे में हरी चाय एंटी एजिंग के साथ साथ एंटी ऑक्सीडेंट का काम करता है।

गर्भावस्था के दौरान हरी चाय का सेवन करने से बहुत फायदे मिलते हैं जैसे दांतों और मसूड़ों के लिए। इसका सेवन करने से गर्भावस्था में तरोताजा और शरीर चुस्त दुरुस्त रहता है। हरी चाय में लौह, कैल्शियम और मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है। हरी चाय कैमेलिया साइनेन्सिस पौधे की पत्तियों से तैयार की जाती है।

इस चाय को सीधे पत्तों से तोड़कर बनाया जाता है। अगर आप हरी चाय का सेवन बिना दूध और चीनी के पीते हो तो इससे आपको काफी फायदा मिलता है। हरी चाय में कैलोरी की भी मात्रा नहीं पाई जाती है। नियमित व्यायाम न करने वाले लोगों के लिए हरी चाय का सेवन बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। हरी चाय में लौह, कैल्शियम और मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा पाई जाती है।

आइये विस्तार से जानते हैं गर्भावस्था में हरी चाय पीने के फायदे के बारे में।

गर्भावस्था में ग्रीन चाय

1. कैल्शियम और मैग्नीशियम की मात्रा

जब गर्भावस्था के दौरान महिला ग्रीन चाय का सेवन करती है तब उसके शरीर में लौह, कैल्शियम और मैग्नीशियम की मात्रा की पूर्ति होती है।

2. कैफीन की कम मात्रा

रात को सोते समय और भूख लगने पर कभी भी कैफीन का सेवन नहीं करना चाहिए। रात को जब आप इसका सेवन करते हो तब आपकी भूख बढ़ती है। जिससे नींद भी ठीक से नहीं आती लेकिन इसके विपरीत गर्भावस्था के दौरान भी रात में ग्रीन टी पी सकते हैं। क्योंकि इसमें कैफीन की मात्रा कम होती है।

3. तरोताजा रखें

गर्भावस्था के दौरान जब महिला हरी चाय का सेवन करती है तब वह तरोताजा महसूस करती है साथ ही वो चुस्त दुरुस्त रहती है।

4. रोगों से लड़ने की शक्ति

गर्भावस्था के दौरान हरी चाय रोगों से लड़ने का न सिर्फ एक अच्छा उपाय है बल्कि इसमें सम्भावित रोगों से लड़ने की शक्ति भी होती है अर्थात गर्भावस्था के दौरान होने वाली किसी भी संक्रमित बीमारी से बचाने का काम हरी चाय करती है।

5. दांतों और मसूड़ों की समस्या

गर्भावस्था के दौरान अक्सर महिलाओं को दांतों और मसूड़ों की समस्या हो जाती है। ऐसे में अगर महिला ग्रीन टी का सेवन करती है तब उसे दांतों और मसूड़ों की समस्या से निजात मिलती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।