पानी कब, कितना और कैसे पियें

जाने पानी कब, कितना और कैसे पियें ताकि आपके शरीर में पानी की कमी भी न हो और पानी से कोई नुकसान भी न हो

आपने बड़े बुजुर्ग लोगों से अक्सर यह सुना होगा कि पानी का सेवन करों। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमें पानी कब, कितना और कैसे पीना चाहिए। आज हम आपको इस आर्टिकल के द्वारा यह बताने जा रहें हैं कि पानी कब, कितना और कैसे पियें।

पानी हमारे शरीर के वजन का दो तिहाई भाग होता है। हमारे शरीर से लगभग 2.5 लीटर पानी हर रोज निकलता है। जिसमें से 1.5 लीटर पानी किडनी से, आधा लीटर पानी स्किन, 300 मिली पानी फेफड़ों से और 200 मिली पानी आंतो से निकलता है। आइये विस्तार से जानते हैं पानी कब, कितना और कैसे पियें।

पानी कितना पियें ?

पानी की यह मात्रा गतिविधि, तापमान, नमी या दूसरे कारणों से कम या अधिक हो सकती है। इसलिए कम से कम इस मात्रा की पूर्ति हो जाएं। हमें दिन में इतना पानी अवश्य पीना चाहिए। शरीर में पानी की पूर्ति के लिए हमें दिन में दो से तीन लीटर पानी जरुर पीना चाहिए यानि हमें दिन में कम से कम आठ गिलास पानी के पीने चाहिए सादा पानी के इलावा हमें पानी की कुछ मात्रा भोजन से भी प्राप्त होती है, कुछ मात्रा शरबत, फलों के जूस, दूध आदि से भी प्राप्त होती है।

इसके इलावा चाय, कॉफी, बियर से भी जबकि कुछ लोगों का मानना है कि इससे यूरिन ज्यादा आता है फिर भी ये पानी के स्त्रोत है। एक्सपर्ट्स लोगों का मानना है कि पानी की कमी के कारण दिमाग की गतिविधियों पर असर पड़ता है। एक्सरसाइज और गर्मी से काफी मात्रा में पानी शरीर से कम हो जाता है। ऐसे में पानी की पूर्ति अवश्य की जानी चाहिए।

पानी कैसे पियें ?

बात जब पानी पीने की आती है तो दिमाग में यह बात जरुर आती हैं कि पानी का सेवन किस प्रकार करना चाहिए। पानी को हमेशा धीरे धीरे घूंट घूंट करके ही पीना चाहिए ताकि वह शरीर के तापमान के अनुसार हो जाएं पानी को हमेशा गिलास पर होंठ लगाकर घूंट घूंट करके पीना चाहिए।

इसके विपरीत जो लोग गर्दन ऊँची करके पानी का सेवन करते हैं। वो गलत होता है क्योंकि उपर से पानी पीने से पूरे फ़ूड पाइप में वायु बनती है। जिससे वायु दोष उत्पन्न होता है। इसके कारण अपच, एसिडिटी, खट्टी डकार, जोड़ों का दर्द, घुटनों का दर्द आदि परेशानियां पैदा होने लगती है। ऐसा आपके साथ न हो इसलिए पानी को हमेशा सही तरीके के साथ ही पीना चाहिए।

पानी कब पियें ?

जब भी आपको प्यास लगती हैं तब आपको पानी का सेवन अवश्य करना चाहिए। क्योंकि प्यास आपको बताती है कि आपके शरीर को पानी की आवश्यकता है। इसलिए जब भी आपको प्यास लगें तब उसे टालें नहीं बल्कि पानी का सेवन करें।

पानी का सेवन भोजन से आधा घंटा पहले या आधा घंटा बाद में करना चाहिए। क्योंकि जब आप भोजन के आधा घंटा पहले पानी का सेवन करते हो तब पानी पीने से आपका पेट जल्दी भरेगा। जिससे आप खाना कम खाओगें इससे आपका वजन भी कंट्रोल में ही रहता है और जब आप भोजन के तुरंत पहले पानी पीते हो। तब आपकी पाचन शक्ति कमजोर होने लगती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।