आई फ्लू के लक्षण और घरेलू उपाय

आईफ्लू को बोलचाल की भाषा में आंख आना कहते हैं। इस रोग से आंख लाल हो जाती है। आईफ्लू की समस्या एक एैसी समस्या जो संक्रमण की तरह एक इंसान से दूसरे इंसान को हो जाती है। इसकी मुख्य वजह है वायरस का संक्रमण और एलर्जी। ऐसे में आपको कुछ उपायों को अपनाना चाहिए जिससे आप आईफ्लू की समस्या से मुक्ति पा सकते हैं।
आईफ्लू के लक्षण
1- आंखों का लाल होना।
2- सूजन होना।
3- आंखो में चिपचिप होना।
4- आंखों में जलन और चुभन होना।
5- आंखों में खुजली होना।
6- धुंधला दिखना आदि।

आईफ्लू के घरेलू उपाय
आंखों में जब बैक्टीरियल कंजंक्टिवाइटिज होता है तब आंखों से बहुत ज्यादा कीचड़ आता है और किसी एक आंख से पीनी भी गिरता है।

1- नमक मिले हुए पानी या गुनगुने पानी से आंखों को दिन में अधिक से अधिक धोएं।

2- हाथों को साबुन से धोने के बाद ही आंखों पर हाथ लगाएं।

3- ठंडे पानी के छपाके आंखों पर जरूर मारें।

4- ठंडी चीजों को आंखों पर रखें जैसे खीरा व कटे हुए आलू आदि।

5- यदि घर में किसी को आईफ्लू हो गया हो तो आप घर की सफाई पर ध्यान दें। हाथों को अच्छे से साफ करें।

6- रोगी के रूमाल व तौलिया का प्रयोग न करें।

7- आईफ्लू से ग्रसित इंसान के तकिये का कवर हर रोज बदलें।

आईफ्लू के अन्य उपाय
1- आईफ्लू होने पर आंखों पर चश्मा लगाएं।
2- कभी भी आंखों का रगड़े नहीं।
3- किसी इंसान से हाथ न मिलाएं।
4- गुनगुने पानी से आंखों को साफ करें। कम से कम दिन में चार बार।
आईफ्लू यदि ठीक न हो रहा हो तो तुंरत आप अपने को डाॅक्टर को दिखाएं। वह आपको कुछ दवाई दे सकता है। जिससे आईफ्लू पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।