डरावने सपने आना – यह वास्तु टिप्स हैं उपाय

vastu-tips-to-avoid-scary-dreams-in-hindi

लोगों मंे कई बार यह शिकायत देखने में आती है कि वे रात में किसी डरवाने सपने के कारण अचानक से उठ जाते हैं। और यह समस्या केवल एक बार नहीं हर बार हो रहीे हो तो यह एक बड़ी परेशानी बन सकती है। वैदिक वाटिका आपको कुछ एैसे वास्तु उपाय बता रही है जिससे आप डरवाने सपनों और उससे होने वाली परेशानी से निजात पा सकते हो।

डरावने सपने आना – यह वास्तु टिप्स हैं उपाय :

सिरहाने में चाकू को रखें
जिन लोगों को अक्सर रात में बुरे सपने आने की वजह से अचानक नींद टूटती हो तो वे रात में अपने सिरहाने के नीचे एक चाकू रखें। यदि आप चाकू नहीं रख सकते हो तो किसी भी तरह की नुकीली वस्तु आप जरूर रखें। जैसे कांटे वाली चम्मच, कैंची या फिर नेल कटर आदि।

पीले रंग के चावल
तकिये के नीचे पीले चावलों को एक कपड़े में बांधकर सिरहाने के नीचे रख दें। हल्दी में चावलों को मिलाकर आप पीले चावल बना सकते हैं। इससे बुरे सपने नहीं आते हैं।

बहुत फायदा करेगी छोटी इलायची

रात में सोने से पहले आप अपने तकिये के नीचे पांच छोटी इलायची को किसी कपड़े में बांध लें और उसे अपने सिरहाने के नीचे रख दें। इससे रात को बुरे सपने और उनसे नींद टूटने की समस्या ठीक हो जाएगी।
तांबे के बर्तन में पानी
नींद यदि रात के समय में बार बार टूट जाती हो या नींद के समय में डर लगता हो तो आप अपने बिस्तर के पास में एक पानी से भरा तांबे का बर्तन रख दें। और सुबह के समय में इस पानी को किसी गमले या पौधों के उपर डालें। इस उपाय से आपको फायदा मिलेगा।

इसके अलावा कुछ बातों का जरूर ध्यान दें जैसे
बिस्तर के नीचे कभी जूता या चप्पल ना रखें।

चादर एकदम गहरे व गाढ़े रंग की ना हो।

रात को सोने से पहले अपने बिस्तर को जरूर साफ करंे। पैरांे को धो कर और साफ करके अपने बिस्तर पर जाएं।

महिलाएं खास बात का ध्यान रखें रात को सोते समय बालों को बांधकर ना सोएं।

इन वास्त्ु टिप्सों को अपनाने से आपको जरूर फायदा मिलेगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।