चिरौंजी के आयुवेर्दिक फायदे

Miraculous-benefits-of-chironji-in-hindi

चिरौंजी के स्वास्थवर्धक फायदों के बारे में आयुर्वेद में बहुत सी जानकारी दी गई है। चिरौंजी का प्रयोग कई बीमारियों को जड़ से ठीक करने के लिए किया जाता है। जहां तक बात करें चिरौंजी की तो इसमें कई तरह के पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। आइये जानते हैं किन किन बीमारियों को ठीक करने में चिरौंजी का प्रयोग होता है। चिरौंजी के आयुवेर्दिक फायदे।

चिरौंजी के आयुवेर्दिक फायदे
खाज खुजली की समस्या में
खाज व खुजली को दूर करने के लिए आप कुच्छ नाम से बाजार में मिलने वाले सिंदूर की दो चम्मच और चिरौंजी  की दो चम्मच को दो चम्मच गुलाब जल के साथ मिलाकर पीस लें और इसे खाज व खुजली वाली जगहों पर लगांए। इस उपाय से खाज खुजली में आराम तो मिलता ही है साथ ही साथ यह खुलजी की समस्या को खत्म कर देती है।

जुकाम व खांसी की समस्या में
जुकाम व खांसी किसी भी मौसम में लग ही जाती है। एैसे में चिरौंजी आपके लिए बहुत ही फायदेमंद औषधि का काम करती है। आप घी में  दो चम्मच पिसी हुई चिरौंजी को छोंक लें। और इसे एक गिलास दूध में डालकर उबाल लें। और गुन गुना होने पर इसका सेवन करें। आपको जल्दी ही फायदा मिल जाएगा।

पित्ती उछलना
शरीर पर पित्ती उछल गई हो तो आप चिरौंजी को पीस लें और इससे बने पेस्ट को पित्ती वाली जगह पर लगाएं। साथ ही साथ आप चिरौंजी का सेवन भी दिन में तीन से चार बार चबा.चबा कर करें।

सुंदर त्वचा के लिए चिरौंजी
चिरौंजी आपकी त्वचा की रौनक को वापस लौटाता है। साथ ही साथ आपके चेहरे को प्राकृतिक चमक भी देता है। गुलाब जल के साथ चिरौंजी को अच्छी तरह से पीस कर के एक लेप तैयार कर लें। अब इस लेप को चेहरे पर लगा लें। सूखने के बाद आप इस लेप को हल्के हाथों से रगड़-रगड़ कर निकालें। और बाद में चेहरे को साफ पानी से धो लें। इस उपाय को सप्ताह में चार दिन कर सकते हो।

दस्त होने पर
दस्त की समस्या होने पर आप चिरौंजी का रस बनाकर पीएं। इस अचूक उपाय से दस्त आने बंद हो जाते हैं। और बीमार इंसान को तुरंत राहत भी मिल जाती है।

बदन में दर्द होने पर
यदि बदन दर्द ज्यादा हो रहा हो तो आप बाजार से चिरौंजी का तेल लें। और इसकी शरीर पर नियमित मालिश करें। आपको बदन दर्द से आराम तुरंत मिलने लगेगा।

खून की गंदगी की समस्या
यदि आप नियमित चिरौंजी का सेवन अपने खाने में करते हैं तो इससे शरीर का दूषित खून साफ होने लगता है। इसके अलावा चिरौंजी हमारे पेट को भी ठीक रखती है।

छालों की पेरशानी
यदि मुह में छाले हो गए हों तो आप चिरौंजी को दिन में दो से तीन बार बारीक चबा.चबा कर सेवन करें। इससे आपका मुंह के छाले से राहत मिलेगी।

चिरौंजी के अन्य फायदे
सांस की परेशानीए कफ की समस्या व बुखार को ठीक करती है चिरौंजी।
चिरौंजी का सेवन करने से शरीर की गर्मी कम होने लगती है। यह शरीर को ठंडक देती है।
यदि आप मेवे के रूप में चिरौंजी का सेवन करते हैं तो इससे शरीर में ताकत आती हैए वीर्य बढ़ता है और दिल की बीमारी भी ठीक होती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।