भीगे हुए बादाम खाने के फायदे

bheege-hue-badam-khane-ke-labh-fayde

बादाम इंसान के शरीर में हर उस चीज की कमी को पूरा करता है जिसकी जरूरत इंसान के शरीर को स्वस्थ रहने के लिए होती है। आज हम भीगे हुए बादाम खाने के फायदे के बारे में बात करेगें। अक्सर लोग बादामों को कभी कभी खाना पसंद करते हैं। कुछ लोग तो बादाम खाने से नफरत करते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं भीगे हुए बादामों को खाने के फायदों के बारे में। भीगे हुए बादाम कच्चे बादामों की तुलना में बहुत सारे स्वास्थवर्धक फायदे देते हैं। जब आप इसे रात को भिगोकर और सुबह छिल कर खाते हो तब इससे आपको दोगुना फायदा प्राप्त होता है

क्यों खाना अच्छा होता है भीगा बादाम

कच्चे बादामों को छिलके के साथ खाया जाता है। जिसकी वजह से बादाम में मौजूद असली गुण जैसे मैग्नीशियम, जिंक, कैल्शियम और ओमेगा 3 फैटी एसिड़ शरीर तक नहीं पहुंच पाते हैं। क्योंकि इन गुणों को बादाम का भूरा छिलका अवशोषण को रोक देता है। वहीं जब आप रात में भीगे हुए बादामों का सेवन सुबह उनके छिलकों को निकाल कर करते हो तो आपको हर तरह से बादाम से मिलने वाला फायदा शरीर को मिलता है।

इसके अलावा भीगा हुआ बादाम खाने से इंसान की पाचन संबंधी समस्या भी ठीक हो जाती है। यही नहीं बादाम लाइपेज नाम के एंजाइम को भी पैदा करता है जो वसा को गलाता है। जिससे इंसान का मोटापा कम होने लगता है। आइये जानते हैं भीगे हुए बादाम खाने के फायदे के बारे में।

भीगे हुए बादाम खाने के फायदे
भीगे हुए बादाम को खाने से मिलने वाले लाभ इस प्रकार हैं –

उच्च रक्तचाप की समस्या में

यदि आप नियमित भीगे हुए बादामों को सुबह के समय में खाते हो तो आपको ब्लडप्रेशर की समस्या से मुक्ति मिलेगी। हाल ही में वैज्ञानिकों ने शोध के आधार पर पाया कि बादामों का सेवन करने से खून में अल्फा टोकोफेराल की मात्रा बढ़ती है। जिससे बढ़ा हुआ बल्ड प्रेशर नियंत्रित रहता है।

वजन घटाने में

वजन कम करना चाहते हो तो भीगा हुआ बादाम आपकी मदद कर सकता है। बादाम में मौजूद गुण बढ़े हुए वजन को कम करते हैं। बादाम बेवजह की भूख को मारता है जिससे इंसान को बार.बार खाने के लिए भूख नहीं लगती है। बादाम खाने से इंसान की बढ़ती हुई उम्र भी थम जाती है।

कोलेस्ट्राॅल में बादाम

कोलेस्ट्राॅल का बढ़ना इंसान के शरीर के लिए अच्छा नहीं माना जाता है। कोलेस्ट्राॅल का अधिक बढ़ना कई बीमारियों को बुलावा देता है जिसमें से मुख्य हैं हार्ट अटैक की समस्या और दिल की बीमारी। यदि आप नियमित रूप से भीगे हुए बादामों का सेवन करते हो तो आपका बढ़ा हुआ कोलेस्ट्राॅल भी घट जाएगा और आप हृदय घात व दिल को लगने वाली बीमारियों से भी आसानी से बच सकते हो।

रखे आपके दिल को स्वस्थ

बादाम एक एंटीआॅक्सीडेंट एजेंट की तरह काम करता है जो कालेस्ट्राॅल को बढ़ने से रोकता है। इस मुख्य गुण की वजह से इंसान का दिल स्वस्थ रहता है और दिल को किसी भी प्रकार रोग नहीं लगता है।
नियमित स्वस्थ रहने और रोग मुक्त रहने के लिए भीगे हुए बादामों का सेवन जरूर करें।

डायबिटीज की बीमारी में बादाम

यदि आप रोज रात को बादाम पानी में भिगोकर सुबह के समय में छिलकर खाते हैं तो इससे इंसुलिन और शुगर का लेवल बढ़ने से रूकता है और इंसान डायबिटीज जैसे गभीर रोग से भी बचा रहता है।

तेज दिमाग के लिए

बादाम की चार से पांच गिरी सुबह बढ़ते हुए बच्चों को जरुर देनी चाहिए। इससे उनका दिमाग तेज होता है साथ ही उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। जिससे उनमें  बीमारी का खतरा कम रहता है।

बूढा न होने दें

अगर आप नियमित रूप से भीगे हुए बादाम का सेवन करते हैं तब आपमें न तो किसी तरह की कोई कमजोरी आती है और न ही आपकी त्वचा पर झुर्रियां आती है। इसमें विटामिन ई की भरपूर मात्रा पाई जाती हैं जो आपको कभी भी बूढा नहीं होने देती।

बालों के लिए

भीगे हुए बादाम खाने के फायदे में एक फायदा यह हैं कि इसका सेवन नियमित रूप से करने पर भरपूर मात्रा में विटामिन ई प्राप्त होता है और जितना विटामिन ई आप लेते हैं। उतने ही आपके बाल घने और सुंदर बनते हैं।

ऊर्जा की प्राप्ति

जब आप सुबह सुबह भीगे हुए बादाम का सेवन करते हो तब आपको इससे ऊर्जा प्राप्त होती है इससे आपकी बॉडी की थकान खत्म होती है। इसके गुण आपको शारीरिक ऊर्जा प्रदान करने में सहायक सिद्द होते हैं।

रुखी त्वचा के लिए

बादाम में विटामिन डी पाया जाता है जो बहुत ही फायदेमंद होता है। आप अपनी रुखी त्वचा के लिए कई तरह के महंगे कास्मेटिक प्राडक्ट इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अगर आप सुबह भीगे हुए बादाम खाते हैं तब आपकी रुखी त्वचा और होंठ ठीक हो जाते हैं। इसके इलावा बादाम तेल के द्वारा भी आप अपनी त्वचा में नमी पहुंचा सकते हैं।

 

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।