आँखों के लिए कुछ बुरी आदतें

Eye care tips in hindi

आँखे हमारे शरीर का वो महत्वपूर्ण अंग है जिसके द्वारा हम इस कुदरत की अनमोल खूबसूरती को आसानी से देख सकते हैं। आँखों के बिना रोजमर्रा के कामों को करने की कल्पना भी नहीं की जा सकती जब हमारी आँखें हमारे लिए इतनी महत्वपूर्ण हैं तो इनका ख्याल रखना भी हमारे लिए बहुत जरूरी है।

लेकिन कई बार हम छोटी छोटी गलतियाँ करते हैं। जिसका परिणाम हमारी आँखों को भुगतना पड़ता है। कई बार इन्हीं छोटी सी गलतियों से आँखों की रौशनी भी चली जाती है। आज हम बात करेगें आखों के लिए खतरनाक कुछ बातें ये गलतियाँ बहुत ही सामान्य होती हैं जैसे आँखों की सफाई न करना, आँखों को आराम न देना, आँखों का चेकअप न करवाना, आँखों को मसलना आदि।

आइये विस्तार से जानते हैं आँखों के लिए खतरनाक बातों के बारे में।

आँखों की सफाई न करना

जिस प्रकार शरीर के अन्य अंगों की सफाई महत्वपूर्ण होती है। उसी तरह आँखों के लिए सफाई भी महत्वपूर्ण होती है। आँखों में भी कई तरह के अपशिष्ट पदार्थ जमा होते हैं जिसके कारण आँखों में इन्फेक्शन हो जाता है और कई बार ये आँखों को गंभीर नुकसान पहुंचाता है। इसलिए दिन में दो बार अपनी आँखों को साफ़ पानी के साथ साफ़ करना चाहिए। इससे आपकी आँखों से धूल और अन्य हानिकारक तत्व साफ़ हो जाते हैं।

आँखों को मसलना

अक्सर आँखों में धुल का कण या कोई चीज चली जाएं तो हम आँखों को मसलने लगते हैं। ये आँखों के लिए अच्छा नहीं है। इसके इलावा जब आँखों में कोई कीड़ा चला जाएँ तो आँखों को मसलने से कीड़े की बॉडी से निकले विषाक्त पदार्थ आँखों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। आँखों को मसलने से आँखों में हाथों के रास्ते बैक्टीरिया चले जाते हैं। जिस से आँखों को इन्फेक्शन और एलर्जी हो सकती है। सिरदर्द के प्रकार, कारण और उपचार

आँखों को आराम न देना

home-remedies-watery-eyes-in-hindi

हर कोई स्मार्ट फोन का शौक़ीन है बहुत से लोग असल दुनिया से ज्यादा वर्चुअल दुनिया में समय बिताने लगे हैं। ऐसे में आँखों पर ज्यादा बोझ पड़ता है इसलिए थोड़ी थोड़ी देर में आँखों को आराम देना जरूरी है। अगर आप कंप्यूटर पर लगातार काम करते हैं तो आपको हर आधे घंटे में आँखों को दो मिनट आराम देना चाहिए। इसके इलावा काम करते समय आँखों से स्क्रीन की दुरी कम से कम दो फीट तक की रखें।

चेकअप न करवाना

आँखों में अगर आपको किसी तरह की कोई समस्या है तो तुरंत ही अपनी आँखों की जांच करवा लें। कई बार आँखों में हल्के दर्द या खुजली को आप इग्नोर के देते हो। जबकि ये किसी गंभीर के शुरूआती लक्षण की निशानी भी हो सकती है। यह बाद में खतरनाक भी हो सकता है। इसके इलावा अगर आपकी आँखों पर चश्मा लगता है तब भी आपको समय समय पर आँखों की जांच करवाते रहना चाहिए।

चश्मा न लगाना

अगर डॉक्टर ने आपको आँखों पर चश्मा लगाने को दिया है तो उसे लगाना जरूरी है। अगर आप पूरा दिन उसे नहीं लगा सकते तो डॉक्टर से पहले ही पूछ लें कि दिन भर में कितनी देर आँखों पर चश्मा लगाना जरूरी है। चश्मे को उतनी देर तक जरुर लगाना चाहिए नहीं तो आपकी आँखों की समस्या बढ़ जाएगी और चश्मे का पावर भी बढ़ता जायेगा।

कांटेक्ट लेंस लगाकर सोना

कई लोग कांटैक्ट लेंस निकालने के झंझट से बचने के लिए इसे लगाकर ही सो जाते हैं लेकिन यह खतरनाक है। इसके कारण आपकी आँखों को ऑक्सीजन नहीं मिल पाती। जिससे पुतलियों को नुकसान पहुंचता है। इससे आँखों में धुन्धलापन आना शुरू हो सकता है।

दूसरों का चश्मा लगाना

कई बार कुछ लोग शौक के तौर पर दूसरों का चश्मा फन लेते हैं। यह भी आपकी आँखों के लिए खतरनाक हो सकता है क्योंकि सबकी आँखों की पावर अलग अलग होती है। इसी तरह दूसरों के सनग्लासेज लगाना भी आँखों के लिए अच्छा नहीं है। क्योंकि इससे आँखों को इन्फेक्शन होने का खतरा हो सकता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।