गर्भावस्था में अधिक शैंपू लगाना हो सकता है खतरनाक

गर्भवती महिलाओ को सेहत के प्रति हमेशा सजक रहना चाहिए। जिसके लिए उन्हे कई तरह की सावधानियां भी रखनी जरूरी होती है क्योंकि इसका असर सीधे गर्भ में पल रहे बच्चे पर पड़ता है। कई बार जानकारी न होने की वजह से गर्भवती महिलाओं से कुछ न कुछ गलतियां हो जाती हैं। जैसे की बालों पर शैंपू का इस्तेमाल अधिक करना। हाल ही में हुए चीन में हुए एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि गर्भवती महिलाओं को अधिक शैंपू नही करना चाहिए।

अधिक शैंपू के इस्तेमाल करने से गर्भवती महिलाओ को नुकसान हो सकता है और यह सीधे उनकी सेहत पर गलत असर डालता है। जिसका मुख्य कारण है शैंपू में पाए जाने वाले हानिकारक केमिकल्स।

चीन की एक यूनिवर्सिटी में 300 से ज्यादा महिलाओं पर किए गए शोध के नतीजों के आधार पर इस बात को कहा है। इस शोध के नतीजे बड़े चौकाने वाले साबित हुए। 300 में से 172 महिलाएं स्वस्थ गर्भवती थी जबकि 132 महिलाएं गर्भपात का शिकार थीं। इन महिलाओं का जब यूरिन टेस्ट किया गया तो यह पाया गया कि जो महिलाएं गर्भपात का शिकार हुई थीं उनमें फैथलेटस केमिकल की मात्रा ज्यादा थी जो गर्भपात का मुख्य कारण होती हैं।

गर्भ के दौरान महिलाओं को अधिक शैंपू का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए क्योंकि यह गर्भपात का मुख्य कारण भी बन सकता है। अतः इन सबसे बचने के लिए महिलाओं को सिर्फ सतर्क रहने की जरूरत होती है। कोशिश यह करें कि केमिकल शैंपू की जगह प्राकृतिक व हर्बल शैंपू का ही इस्तेमाल करें।अधिक शैंपू से गर्भपात का खतरा तो होता ही है साथ ही यह लिवर से संबंधित बीमारीयों को भी पैदा कर सकता है। इसके अलावा यह स्वास संबंधी परेशानी, छाती में दर्द और न जाने कितने सारे रोग शरीर को लगा सकता है। अधिक शैंपू करने से बालों को भी पोषण नहीं मिलता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।