वैदिक मंत्र : रशियों के अनुसार

मंत्रों में कई शक्ति होती हैं। इसलिए हर इंसान के जीवन में वैदिक मंत्रों का प्रभाव पड़ता है। लेकिन अक्सर कई बार आप ये नहीं जान पाते हैं कि किस मंत्र का जाप करने से आपको सबसे ज्यादा फायदा मिल सकता है। ज्योतिष शास्त्र के अुनसार हर इंसान को अपनी राशि के अनुसार मंत्रों को जपना चाहिए। जिनके जप करने से वह कई तरह के संकटों से बचता रहता है। और आर्थिक रूप से भी मजबूत बनता है। वैदिक वाटिका आपको बता रही है कि आप कौन सा मंत्र अपनी राशि के अनुसार जपें।

रशियों के अनुसार वैदिक मंत्र

रशियां 12 होती हैं और आपका नाम इन राशियों में से एक होता है। उसके अनुसार ही मंत्रों को जपने से लाभ मिलता है। 

मेष राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ ह्रीं श्रीं लक्ष्मीनारायण नमरू वृषभ:

वृषभ राशि के जातकों के लिए मंत्र

 ॐ गौपालायै उत्तर ध्वजाय नम:

मिथुन राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ क्लीं कृष्णायै नम:

कर्क राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ हिरण्यगर्भायै अव्यक्त रूपिणे नम: 

सिंह राशि के जातकों के लिए मंत्र

 ॐ क्लीं ब्रह्मणे जगदाधारायै नम:

कन्या राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ नमो प्रीं पीताम्बरायै नम:

तुला राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ तत्व निरंजनाय तारक रामायै नम:

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ नारायणाय सुरसिंहायै नम:

धनु राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ श्रीं देवकीकृष्णाय ऊर्ध्वषंतायै नम: 

मकर राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ श्रीं वत्सलायै नम: 

कुंभ राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ श्रीं उपेन्द्रायै अच्युताय नम:

मीन राशि के जातकों के लिए मंत्र

ॐ क्लीं उद्धृताय उद्धारिणे नम :  

प्रतिदिन हर इंसान को अपने रशियों के अनुसार इन मंत्रों का उच्चारण 108 बार करना चाहिए। इनको जपने के बाद आपको किसी और मंत्र को जपने की जरूरत नहीं है। ये मंत्र काफी प्रभावशाली और दिव्य हैं। 

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।