वास्तु टिप्स – घर में झाडू से जुड़ी मान्यताएं

जिस तरह घर में हर चीज का अपना महत्व होता है ठीक उसी तरह से झाडू का भी अपना महत्वपूर्ण महत्व है। झाडू घर की गंदगी ही साफ नहीं करता । यह घर के अंदर से दरिद्रता को भी दूर करके सुख और समृद्धि भी लाता है। वास्तु शास्त्र में भी झाडू के बारे में कई बातों का जिक्र किया गया है। हिंदू धर्म के अनुसार बीमारियों को दूर करने वाली देवी शीतला माता झाडू को अपने एक हाथ में धारण करती हैं। आइये जानते हैं झाडू से जुडी मान्यतांए क्या हैं और इससे हमें क्या फायदे मिल सकते हैं।

 वास्तु शस्त्र के अनुसार झाडू की मान्यताएं

झाडू को हमारे ग्रंथों में लक्ष्मी का अंश माना गया है। कहा जाता है जहां झाडू पर पैर लगाया जाता है वहां धन की हानी होती है। 

घर में आने वाले लोगों की नजरों से झाडू को दूर रखें। वास्तु शास्त्र के अनुसार जिस तरह धन को छुपाकर रखा जाता है ठीक उसी तरह झाडू को भी छुपाकर रखना चाहिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार झाडू को घर में इधर-उधर रखने से घर में पैसों के आगमन में परेशानी आती है। और घर में आर्थिक समस्या बन जाती है। इसलिए झाडू की एक जगह बना लें और वहीं पर झाडू को रखें।

जिस तरह से आप लक्ष्मी को सम्मान देते हैं उसी तरह से आप झाडू को भी सम्मान दें। यानि कभी भी झाडू पर पैर न लगाएं। 

कभी भी सूर्यास्त के बाद झाडू नहीं लगाना चाहिए। इससे घर में धन हानि होती है। घर में मंद बुद्धि बालक पैदा होता है। 

वास्तुशास्त्र के अनुसार झाडू को खड़ा करकर नहीं अपितु इसे लेटाकर रखना चाहिए। यह झाडू का अपमान होता है और घर में धन की कमी होने लगती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।