वास्तु टिप्स – घर में खुशिओं के लिए

dhan-aur-shanti-ka-nuksan-hota-hai-agar-ghar-me-hoti-hain-yeh-chezen

कौन नहीं चाहता है घर में खुशियां रहे। सभी लोग खुशी से रहें। किसी तरह से कोई गृह क्लेश ना हो। लेकिन कई बार अचानक से घर में परेशानी आने लगती है। घर में आपस में सब लोग लड़ने लगते हैं। पूरा घर अशांत होने लगता है। जिसकी वजह समझ नहीं आती है। छोटी छोटी बातों में लड़ाई होना। यह सब वास्तु दोष की वजह से होता है। आइये जानते हैं कैसे करें वास्तुदोष को खत्म जिससे घर में आएगी खुशियां और संपन्न्ता।

घर में खुशियों के लिए वास्तु टिप्स

बिजली के उपकरण
बिजली से चलने वाली वे चीजें जो आवाज अधिक करती हैं जैसे पंखाए मिक्सरए कूलर आदि को समय समय पर ठीक कराते रहें। यही नहीं घर के दरवाजों के कब्जों पर तेल आदि डालें। अन्यथा दरवाजों से निकलने वाली आवाज वास्तु शास्त्र के अनुसार अशुभ होती है।

हवन और यज्ञ
साल में घर में दो बार हवन जरूर कराएं। घर में मंदिर का निमार्ण ईशान कोण यानि उत्त्र पूर्व की तरफ कराएं। इससे वास्तु दोष खत्म होता है। और घर में शांति आती है।

घर पर बेदी लगना
यदि आपका घर एैसी जगह पर हो जहां पर दूसरे घर आपसे उंचे बने हुएं हों तो इससे आपके घर में बेदी लगती है। जिससे आपके घर में कोई भी काम ठीक तरह से नहीं हो पाता है। और हर शुभ काम में देरी व रूकावटें आती रहती हैं।  एैसे में आप अपने घर के उपर त्रिशूल या लाल रंग का झंड़ा लगाएं।

आईना
आपके शयन कक्ष यानि कि बेडरूम में आईना नहीं होना चाहिए। एैसा होने से घर में क्लेश व मारपीट होती रहती है। और घर में अशांति का माहौल भी बना रहता है। इसलिए आईने को तुरंत बाहर कर दें।

शुभ  लाभ
आपके घर का जो मुख्य द्वार है। यानि कि मेन गेट है उसके बाहर में आप हल्दी या लाल चंदन से शुभ लाभ लिखें। एैसा करने से घर में बुरी उर्जा नहीं आती है।
भवन के उत्तर पूर्व में दरवाजे या खिड़कियां ज्यादा हों।

इन वास्तु उपायों को करने से आपके घर में किसी भी तरह का गृह क्लेश व अशांति नहीं आएगी। बस विशवास के साथ इन वास्तु उपायों का प्रयोग करें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।