उड़द की दाल के लड्डू

यदि पुरूष संभोग से संतुष्ट नहीं हो पाते हैं तो उन्हें इस लड्डू का सेवन करना बेहद जरूरी है। जी हां हम बात कर रहें है उड़द की दाल के लड्डू के बारे में। पुराने समय में राजा कई रानियों को अपने साथ रखते थे। वे अपनी क्षमता को बढ़ाने के लिए उड़द की दाल से बने लड्डू का सेवन करते थे। इस लड्डू को खाने से पुरूषों में नामर्दी, शीध्रपतन और स्वपनदोष की समस्या ठीक हो जाती है। पुरुषों की सेहत के लिए बड़ा ही फायदेमंद है ये लड्डू । आइये जानते हैं कैसे बनता है ये लड्डू। और कैसे करे इसका सेवन।

उड़द की दाल से बनाए जाने वाले लड्डू को बनाने की विधि

  • 400 ग्राम उडद की दाल रात को भिगो कर रख लें।
  • 400 ग्राम बूरा या मिश्री।
  • 400 ग्राम घी।
  • 10 नग छोटी इलायची।
  • दस ग्राम पिस्ते।
  • काजू, बादाम और किशमिश के छोटे-छोटे टुकडे। सभी को मिलाकर 100 ग्राम वजन होना चाहिए।

ये भी पढे-नपुसंकता के कारण और घरेलू उपाय

बनाने का तरीका

जैसा कि बताया गया है कि उडद की दाल को रात मे भिगों के रख लें और सुबह उसे दरदरा यानि मोटा-मोटा पीस लें।

अब घी को गरम कढ़ाई में डाल दें और उपर से उड़द की दाल को भी डालकर उसे चमचे से चलाते हुए अच्छे से भूने। जब इसका रंग भूरा हो जाए तब इसमें बादाम, काजू और किश्मिश के छोटे टुकड़ों को डाल दें। इसके बाद बारीक कतरे हुए पिस्ते और इलाइची को छीलकर और कूटकर इस में डाल दें। भूने हुए इस दाल में अब मेवे और बूरा डालकर अच्छी तरह से मिला लें।

ये भी पढे-जवां बने रहना है – खाएं यह 5 चीजें

अब आपका लड्डू का मिश्रण तैयार है। इस मिश्रण को साफ हाथों से लड्डू बनाएं। और इन लड्डूओं को किसी टाइट कन्टेनर में रख लें ।

सुबह-शाम एक-एक लड्डू दूध के साथ सेवन करें। यह लड्डू नामर्दी और स्वपनदोष जैसी बीमारियों को खत्म करता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।