प्रेग्रेंसी कितने प्रकार की होती है

different-types-of-pregnancy-in-hindi

एक महिला के लिए गर्भधारण करना बेहद सुखद अहसास में से एक होता है। गर्भधारण करना आसान काम नहीं है। यह जरूरी नहीं होता है कि प्रसव आसानी से हो जाए। यह कई तरह की जटिलताओं भरा होता है। लेकिन वर्तमान में कई तरह की सुविधाओं की वजह से यह कार्य अब आसान हो गया है। कितनी प्रकार की होती है गर्भावस्था यह जानना हर महिला को पता होना चाहिए और आप गर्भधारण में होने वाली परेशानियों से बच सकते हो।

फैंटम गर्भावस्था
यह एक मनोवैज्ञानिक अवस्था होती है। इसमें महिलाओं को बार बार यह एहसास होता है कि वे गर्भवती हो गई है। यानि कि बिना गर्भवती हुए उन्हें गर्भ्वती होने का एहसास होता रहता है। यह उन महिलाओं को अधिक होता है जो गर्भधारण के लिए जरूरत से अधिक उत्साहित रहती हैं।

अस्थानिक गर्भावस्था
अस्थानिक गर्भावस्था को अंग्रेजी में एक्टोपिक गर्भावस्था कहा जाता है। एस प्रग्रेंसी में गर्भाशय बाहर भ्रूण बनने लगता है और यह
फेलोपियन ट्यूब में बन जाता है। ये कोई साधारण अवस्था नहीं होती है। इसे असामान्य गर्भावस्था कहा जाता है। जिसमें जोखिम अधिक होता है। और अंडा गर्भ तक पूरी तरह से नहीं पहुंच पाता है।
और इस वजह से भ्रूण का विकास पूरी तरह से नहीं हो पाता है। अंडा ट्यूव में रह जाता है।

ट्यूबल प्रेग्रेंसी एक्टोपिक एंव इंट्रा—ऐब्डामनल प्रेग्रेंसी
यह प्रेग्रेंसी भी बहुत ही ज्यादा जटिल होती है।
इस स्थिति में गर्भ का भ्रूण गर्भाशय में नहीं ऐब्डामनल कैविटी में बनने लगता है।
एैसी स्थिति में महिला का गर्भपात तक हो जाता है। क्योंकि यह महिला की जान के लिए खतरा बन जाता है।

मोलर प्रेग्रेंसी
इसी तरह मोलर प्रेग्रेंसी भी बहुत ही असाधारण होती है। इसे गर्भावस्था की सबसे संवेदनशील अवस्था माना जाता है। जिसमें क्रोमोसोम महिला के निषेचित अंडे पर नहीं होता है।
शुरूआत में मोलर प्रेग्रेंसी के मुख्य लक्षण सामान्य गर्भावस्था की तरह ही दिखते हैं लेकिन बाद में यह अपना रूप बदलकर एक दुर्लभ स्थिति बना देते हैं।
महिलाओं को खासकर कि गर्भवती महिला को हर बार और समय समय पर जरूर अपने को
डॉक्टर से चेकअॅप करवाना चाहिए। क्योंकि इस तरह की समस्याएं होने पर समय पर इनका इलाज संभव हो जाता है।
किसी भी स्थिति में देर होना बहुत ज्यादा खतरनाक हो सकता है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।