तुलसी सुधा

तुलसी सुधा एक तरह का शर्बत होता है जो गर्मियों और सर्दियों में आपकी सेहत के लिए गुणकारी शर्बत से कम नहीं है। तुलसी सुधा पीने से सिर का दर्द, खासी-जुकाम, सर्दी, एसीडिटी और पेट की गैस की समस्या ठीक होती है और यह शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को और अधिक बढाता है। तुलसी सुधा पाचन तंत्र की गड़बड़ी को भी ठीक करता है। कैसे बना सकते हैं आप तुलसी सुधा को वैदिक वाटिका आपको बता रही है।

तुलसी सुधा बनाने के लिए जरूरी सामग्री

 

  • 10 कप पानी
  • आधा कप तुलसी की पत्तियां
  • तीन चौथाई गुड
  • नींबू रस
  • छोटी इलायची।

बनाने का तरीका

तुलसी की पत्तियों और इलायची को मिक्सी में बारीक पीसकर पेस्ट बना लें। और बाद में उपर से नींबू का रस डाल दें।

10 कप पानी को किसी पतीले या भगोने में उबलने के लिए गैस में रखें और गुड को उसमें उबलने के लिए रख दें। गुड के घुलने के बाद गैस को बंद करें। 

गुड मिले हुए पानी में इलायची और तुलसी का पेस्ट जो आपने बनाया था उसे  इस पानी में डालकर दो घंटे के लिए ढक दें।

अब आपका पौष्टिक और स्वादिष्ट शरबत तैयार हो गया है। इसे अब ठंडा करने के लिए रख दें। और बाद में छानकर इसका सेवन करें।

चाय की जगह सर्दियों में यदि आप तुलसी सुधा का इस्तेमाल करते हो तो आप कभी बीमार नही पड़ोगे। तुलसी सुधा को फ्रिज में रखकर आप 10 से 12 दिनों तक इसका इस्तेमाल कर सकते हो।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।