Ebola Symptoms and Preventive Measures/ इबोला के लक्षण और इसका उपाय

Ebola is a rare however deadly virus which spreads quiet rapidly. The virus has already taken a heavy toll on lives across the world in recent months. This virus directly affects your immune system and organs. Death probability normally remains very high for people who come in contact of this deadly virus.  Ebola virus affects blood directly and one of the major symptom is internal & external bleeding. The virus is primarily transmitted from infected pigs and monkeys. Correct information and precaution is the only tool available to combat this virus.
Symptoms of Ebola virus: Patients infected with the virus have symptoms such as headache, joint and muscle pain, fever, sore throats, body weakness, abdominal pain. These symptoms in patients infected with the virus can be seen in 2 to 21 days. A few other likely symptoms of this virus are bleeding from eyes, nose and ears,  blood in stool. Infected  patient’s condition deteriorate day by day. For prevention and control of Ebola virus research work is currently going across the globe. However there is no full proof medicine as of now.
Hence we should take certain precautionary steps which can reduce chances of coming to contact of this deadly virus.

 

1. Use your handkerchief or mask in crowded places.
2. If you are non vegetarian then you should take extra precautions because meat is the primary carrier of Ebola virus.
3. Do Anuloma Viloma Pranayam during morning which removes your respiratory discomfort.
4. As the virus affects the immune system in the body it is essential to increase intake of fruits.
5. Drink as much water as possible (preferably boiled), keep water in a copper vessel at night and drink in the morning.
6. Wash hands before eating.
7. Eat cloves and cardamom.
8. Massage your body with olive oil or mustard oil.
9. Avoid travelling to places already infected with this virus.
These measures can reduce chances of getting infected by ebola virus however it’s essential to refer to your doctor/physician even on the slightest discovery of any of the symptoms.

 इबोला। यह एक घातक वायरस है जो तेजी से फैलता जा रहा है और इससे कई लोगों की मौत भी तेजी से होती जा रही है। इबोला वायरस सीधा आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली और अंगों को प्रभावित करता है। और इस वायरस से रोगीयों के मरने की 90 प्रतिशत से अधिक संभावना रहती है। इबोला वायरस सीधा खून को प्रभावित करता है और इस वायरस से प्रभावित रोगी के शरीर से अंदर और बाहर से खून निकलना शुरू हो जाता है। यह वायरस संक्रमित सुअर और बंदरों से फैलता है। इस वायरस के बारे में जानकारी ही सही बचाव है।

इबोला वायरस के लक्षण इस वायरस से ग्रसित रोगी में कुछ लक्षण पाये जाते हैं जैसे- सिरदर्द, जोड़ों और मासपेशियों में दर्द, बुखार, गला खराब होना, शरीर में कमजोरी आना, पेट में दर्द होना। इस वायरस से ग्रसित रोगी में ये लक्षण 2 से 21 दिनों में दिखने लगते हैं। इबोला वायरस के कुछ और लक्षण भी हैं जैसे आखं, नाक और कान से खून बहना, कुछ लोगों को खूनी दस्त भी होते हैं और रोगी की हालात बदतर होती जाती है। इबोला वायरस का रोकथाम और नियंत्रण इस वायरस के निदान के लिए अभी पूरे विश्व में शोध कार्य चल रहा है। लेकिन कुछ उपायों को यदि आप करते हैं तो इस वायरस का प्रभाव कुछ हद तक कम किया जा सकता है।

1. भीड़-भाड़ वाली जगह पर आप अपना रूमाल या मास्क का इस्तेमाल करें।
2. यदि आप मांसाहारी हैं तो आपको बेहद स्वछता पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि मांस से ही इबोला वायरस फैलने का मौका ज्यादा रहता है।
3. सुबह उठकर उनुलोम-विलोम प्रायाणाम करें जो आपकी श्वांस संबंधी परेशानी को दूर करेगा।
4. यह वायरस शरीर को प्रतिरक्षण प्रणाली को प्रभावित करता है एैसे मे जरूरी है की आप फलों का सेवन अधिक से अधिक करें।
5. अधिक से अधिक मात्रा में पानी का सेवन करें। रात को तांबे के बर्तन में पानी भरकर रखें और सुबह उठकर पीयें।
6. खाना हाथ धो कर खायें।
7. पानी को हमेशा गुनगुना कर पीयें।
8. लौंग और इलायची का सेवन करें।
9. जैतून के तेल या सरसों के तेल की शरीर में मालिश अवश्य करें।

इबोला वायरस से बचने के इन उपायों को आप कर सकते हो लेकिन आधुनिक चिकित्सा के हिसाब से भी आपको अपने शरीर का टेस्ट कराना भी अनिवार्य है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।