थायराइड से बचने के लिए परहेज और आहार कैसा लें

थाइराइड एक बढ़ती हुई समस्या है। अक्सर बहुत से लोग इस बीमारी से परेशान हैं। यह इंसान के शरीर को धीरे-धीरे कमजोर कर देता है  इस समस्या से इंसान की जान तक जा सकती है क्योंकि यह असर धीरे-धीरे करता है। यदि आपको थाइराइड की समस्या हो गई है या आप अपने को थाइराइड की बीमारी से पहले से ही बचाना चाहते हो तो अपने खाने पीने की आदतों में कुछ चीजों का इस्तेमाल करना शुरू कर दें। थाइराइड की समस्या को दूर करने के लिए आपको अधिक मात्रा में प्रोटीनयुक्त, फाइबरयुक्त और विटामिन्स का सेवन करना चाहिए। वैदिक वाटिका आपको बता रही है आपको किन आहारों को अपनी डाइट में शामिल करना है।

थाइराइड से बचने वाले प्राकृतिक आयुवेर्दिक आहार

साबुत अनाज का सेवन
थाइराइड के मरीजों को चाहिए कि वे साबुत अनाज जैसे पास्ता, जौ, पुराना और भूरा चावलए जई आदि का सेवन जरूर करें। क्योंकि इन चीजों में अधिक मात्रा में मिनरल और विटामिन के साथ-साथ फाइबर की भी अधिक मात्रा होती है। जो शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं।

आयोडीन का सेवन

जिन लोगों को थाइराइड की समस्या है वे अपने खाने में आयोडीय चुक्त चीजों का इस्तेमाल करें। आयोडीन थाइराइड की परेशानी और उसके दुष्प्रभावों को खत्म कर देता है। ध्यान रहे अधिक आयेडीन युक्त नमक का सेवन भी नहीं करना चाहिए। क्योंकि इससे थाइराइड बढ़ता है।

 

सब्जियां और फलों का सेवन
रोगों से लड़ने में मदद करते हैं फल और सब्जियां। फाइबर की मात्रा भी सब्जियों में अधिक होती है। जो थाइराइड की समस्या और उससे होने वाले हानिकारक प्रभावों को खत्म कर देती है। हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन थाइरायड के मरीजों को अधिक से अधिक करना चाहिए। इसके अलावा टमाटर, हरी मिर्च और लाल मिर्च आदि को खाना भी फायदेमंद रहता है। क्योंकि इनमें प्रचुर मात्रा में एंटीआॅक्सीडेंट रहता है। सब्जियों के अलावा आप फलों का सेवन भी अधिक से अधिक करें। फलों में भी पोषक तत्व होते हैं जो थाइराइड की समस्या को ठीक करते हैं।

दही और दूध का प्रयोग
दही और दूध में अधिक मात्रा में कैल्श्यिम, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं। जो शरीर के अंदर पोषक तत्वों की कमी को पूरा करते हैं। इन चीजों का सेवन करने से पाचन तंत्र मजबूत बनता है और थाइराइड की बीमारी धीरे-धीरे ठीक होने लगती है।

मछली का प्रयोग
जैसा कि हमने आपको बताया है कि थाइरायड के मरीजों को आयोडीन का सेवन करना चाहिए। नमक में भी आयोडीन अधिक होता है लेकिन नमक का सेवन कम ही करना होता है। एैसे में मछली सेवन करना बहुत ही लाभदायक है। क्योंकि मछली में अधिक मात्रा में आयोडीन पाया जाता है। इसके अलावा मछली में ओमेगा 4 फैटी एसिड भी पाया जाता है। समुद्री मछलियां खाना अधिक फायदेमंद होता है। जैसे झींगा और सेलफिश आदि।

थाइराइड की बीमारी कोई लाईलाज बीमारी नहीं है। आप पूरी तरह से इस रोग से मुक्त हो सकते हैं।
इन बताए गए आहारों को यदि थाइराइ से परेशान मरीज सेवन करते हैं तो उन्हें इस रोग से जल्दी से छुटकारा मिल सकता है। इन सब चीजों के अलावा एक मुख्य बात यह है कि आप सुबह और शाम योग व टहलें जरूर। आपको जल्दी फायदा मिलेगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।