गाय के दूध के लाभ

गाय को वैदिक समय से ही महत्व दिया गया है गाय का दूध बेहद पौष्टिक और सेहतवर्धक होता है। मानव की बुद्धि के विकास में गाय का दूध बेहद अहम होता है। हाल ही में हुए शोध में यह बात सामने आई है कि भारतीय गाय के दूध में मिलने वाले प्रोट्रीन से हृदय घात, डायबिटीज और मानसिक रोग को ठीक करने में अहम होता है। दुनिया में पाई जाने वाली गायों में से भारत की गाय को सबसे उत्तम माना गया है। भारतीय गाय के दूध में ताकत और पौष्टिकता अधिक होती है। नई रिसर्च में यह बात भी सामने आई है कि भारतीय नश्ल की गाय में सन ग्लैंडस होती है जो उसके दूध को पौष्टिक्ता के साथ औषिधी में बदल देती है।( benefits of cow’s milk)

गाय के दूध का असर उनके रंगों के अनुसार भी होता है। गाय का दूध भैंस के दूध की तुलना में बेहद हल्का होता है। इसलिए छोटे बच्चों को गाय का दूध शीध्र पच जाता है। लाल रंग की गाय के दूध के सेवन से शरीर उर्जावान होता है और खून की मात्रा भी शरीर में बढ़ती हैं।
सफेद गाय की दूध के सेवन से शरीर की पाचन क्रिया ठीक रहती है और शरीर बलवान होता है। काले रंग की गाय का भी अपना विशेश महत्व है। यह पेट की गैस संबंधी बीमारियों से बचाता है। चितकबरी रंग की गाय मनुष्य के स्वभाव को चंचला देती है और शरीर को हष्ठ पुष्ट भी।

पेट के कैंसर और टयूमर खतरा कम करती है
नए शोध से पता चला है कि ऐशिय में गैस्ट्रिक कैंसर से प्रभावित रोगियों की संख्या दिन प्रति दिन बढ़ती जा रही है जिस वजह से मौतें भी अधिक हो रही है। इस दिशा में गाय का दूध एक महत्वपूर्ण औषिधी का कार्य करता है। शोधकर्ताओं के अनुसर कोलोन कैंसर यानी पेट के कैंसर को शुरूआती दौर में रोकने के लिए गाय का दूध बेहद महत्वपूर्ण माना गया है। यह कैंसर की कोशिकाओं से होने वाले खतरे को कम कर देता है। टयूमर को बढ़ाने वाले बेसलिन के प्रभाव को कम करने में गाय के दूध की पौष्टिक तत्व काफी अहम होते हैं।

नई रिर्सच में इस बात का पता चला है। कि ए1 जीन गाय में पाया जाता है। यह जीन दिमाग के विकास के लिए महत्वपूर्ण माना जाता है।
गाय के दूध का रंग थोड़ा पीला होता है इसकी वजह है गाय के दूध में पाया जाने वाला सन ग्लैंडस है। यह शरीर को मजबूत करता है। और आंतों की बीमारी में लाभ देता है।

स्वाइन फलू से बचाये
नए शोध में इस बात का पता लगाया गया है कि एच1 एन1 वायरस से बचने के गाय का पहला दूध सबसे महत्वपूर्ण होता है। गाय के दूध के प्रयोग से बन रही एंटी बायोटिक्स के जरिए स्वाइन फलू वायरस को खत्म किया जा सकता है।

गाय का दूध सेहत और सौंदर्य के लिए बेहद फायदेमंद है। इसलिए आप अपने खाने में गाय के दूध का इस्तेमाल जरूर करें।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।