स्वप्न दोष का इलाज – आयुवेर्दिक उपाय

स्वप्न दोष का रोग युवा लोगों को होता है। इस रोग में रात को सोते समय वीर्य अपनेआप ही निकल जाता है। यदि सप्ताह में एक या दो बार स्वप्न दोष होता है तो यह सामान्य माना जाता है। यदि रोज हो रहा है तो यह बीमारी मानी जाती है। समय पर इसका उपचार न होने की वजह से नपुंसकता की समस्या हो सकती है। इस दोष के मुख्य कारण हैं मल-मूत्र के वेग को रोककर रखना, अश्लील फिल्म, अश्लील चीजें देखने, गर्म तासीर वाले खाना खाने से, कब्ज बनने से और नशीले पदार्थों का सेवन करने से यह रोग होता है। आइये जानते हैं स्वप्न दोष के लक्षण और स्वप्न दोष का इलाज (swapn dosh ka ilaj in hindi) :

स्वप्न दोष के लक्षण
इस बीमारी में रोगी को कमजोरी का अनुभव होना, चक्कर आना, आलस्य लगना, किसी काम पर मन न लगना और हाथ-पैरों के तलुवों से दुर्गन्ध आना आदि प्रमुख लक्षण होते हैं।
क्या स्वप्न दोष हानिकारक होता है।
बहुत लोगों के मन में यह सवाल उठता है कि स्वप्न दोष से क्या हानि होती है।
सबसे पहली बात इससे किसी भी तरह की यौन दुर्बलता या पुरूषत्व की हानि नहीं होती है। लेकिन जो परेशानी इससे हो सकती वह है नपुंसगता होना। क्योंकि स्वप्न दोष में पुरूष की इंद्री बिना उत्तेजित हुए वीर्य को गिरा देती है।

स्वप्न दोष का इलाज – आयुवेर्दिक उपाय

  • आंवले का एक मुरब्बा, रस के साथ खाते रहने से कुछ दिनों में स्वप्नदोष की बीमारी ठीक हो जाती है।
  • 10 ग्राम धनिये के बीजों को पीसकर उसे सादे पानी के साथ रोज पीते रहने से स्वप्न दोष रोग ठीक होता है।
  • दो केले खाकर उपर से गुनगुना दूध पीएं। एैसा कुछ दिनों तक रोज करें। स्वप्न दोष रोग से निजात मिलता है।
  • लहसुन की 2 कलियों के टुकड़े पानी से निगल लें।
  • कुछ दिनों तक पके हुए फलों को खाते रहने से स्वप्न दोष ठीक हो जाता है।
  • मिश्री और सूखा धनिया मिलाकर पीस लें और चूर्ण बना लें। अब आधा चम्मच चूर्ण सादे पानी के साथ कुछ दिनों तक लेते रहें। स्वप्न दोष से मुक्ति मिलती है।
  • अनार के छिलकों को अच्छे से पीसकर 5-5 ग्राम सुबह और शाम पानी के साथ कुछ दिनों तक लेते रहें।
  • तुलसी की जड़ के छोटे-छोटे टुकड़े पानी के साथ मिलाकर कुछ दिनों तक पीते रहें।
  • 10 ग्राम सफेद प्याज, 6 ग्राम अदरक का रस, 3 ग्राम देशी शहद और 3 ग्राम देशी घी को मिलाकर रात को सोने से पहले पीएं।
  • जामुन की गुठली को पीसकर असका चूर्ण बना लें और सुबह-शाम इस चूर्ण को पानी के साथ लें। एैसा करने से स्वप्न दोष जड़ से खत्म होता है।

स्वप्न दोष का इलाज
जिन लोगों को अधिक स्वप्न दोष होता है वे अपने पेट के निचले भाग पर  गर्म-ठंडा सेंक करते रहें। आपको स्वप्न दोष से राहत मिलती है।

गाय का घी चार ग्राम, शहद तीन ग्राम और प्याज का रस 6 ग्राम को आपस में मिलाकर रोज चाटें। इस उपाय से स्वप्न दोष की समस्या ठीक हो जाती है।

खांड की दस ग्राम मात्रा में आखरोट के छिलकों का पीसा हुआ चूर्ण को मिलाकर पानी के साथ दस दिनों तक सेवन करें।

दस मिलीलीटर सफेद प्याज के रस में तीन ग्राम अजवाइन में दस ग्राम चीनी मिलाकर सेवन करें।
इस कारगर उपाय से शीध्रपतन व नपुंसकता जैसी समस्याएं भी खत्म होती हैं।

एक लीटर पानी में त्रिफला के चूर्ण को मिला लें यह काम रात में करें। और सुबह इसे छानकर पीएं। यह उपाय भी स्वप्न दोष की समस्या को जड़ से ठीक कर देता है।

इन आयुवेर्दिक उपायों को करने से स्वप्न दोष जड़ से खत्म होता है। इसके लिए जरूरी है कि आप कोई सा भी उपाय करें उसे नियमित रूप से करें। तभी लाभ मिलेगा।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।