पेनकिलर्स के साइड इफेक्ट्स

बदलती जीवनशैली के इस दौर में हर चीज इंसान को तुंरत चाहिए होती है चाहे वह कहीं जाना हो या फिर कुछ खाना हो। यही नहीं यदि थोड़ी बहुत तकलीफ में दर्द भी हुआ तो तुरंत राहत पाने के लिए पेनकिलर्स का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन वे ये नहीं जानते हैं कि पेनकिलर्स इंसान के दिमाग और जीवन दोनों को ही खत्म कर सकती है। आजकल युवाओं में भी यह देखा गया है कि वे सबसे ज्यादा पेनकिलर्स के आदि बन गए हैं। वैदिक वाटिका आपको बताएगा कैसे पेनकिलर्स दवाएं आपके लिए खतरनाक होती हैं और इनसे कैसे बचाव किया जा सकता है।

क्या वजह होती है पेनकिलर्स लेने की
सबसे बड़ी वजह पेनकिलर्स लेने की यह होती है कि यह तुरंत दर्द से रात दिलाती है। दूसरी वजह है इन दवाईयों पर दिमाग व शरीर ज्यादा निर्भर होने लगते है। जो कि पेनकिलर्स की लत को बढ़ावा देता है। इन दवाओं का नशा शराब लेने की आदत की तरह बन जाती है। तीसरी वजह है दूसरों की देखा देखी पेनकिलर्स लेना और चौथा कारण है इन दवाओं के साइड इफेक्टस के बारे में जानकारी का न होना आदि।

पेनकिलर के साइड इफेक्टस
1. यदि आप साल में रोज पेनकिलर्स लेते हो तो इससे लिवर डैमेज होने की ज्यादा संभावना होती है।
2. कुछ एैसी पेनकिलर्स भी होती हैं जो अस्थमा को बढ़ाती हैं। जिनके बारे में आपको पता नहीं होता है ।
3. ये दवाएं इंसान की उम्र को भी कम करती हैं। नए शोध में कहा गया है कि पेनकिलर्स इंसान की उम्र को 10 साल घटा देती है।
4. अधिक पेनकिलर्स के इस्तेमाल से सुस्ती, कब्ज, ब्लड प्रेशर कम होना और मुंख सूखना जैसी परेशानियां हो सकती हैं।
5. ये दवाएं इंसान के शरीर में कई तरह की बीमारियां जैसे घबराहट, अनिंद्रा, और बेचैनी को बढ़ा देती हैं।
6  इन सब के अलावा ये दवाएं डिप्रेशन, मांसपेशियों में जकड़न, यूटेरस और लिवर में परेशानी दे सकती है। और सुबह-सुबह खाली पेट पेनकिलर लने से पेट व किड़नी को खराब हो सकती हैं।

क्या तरीका अपनाएं?
1. किसी भी दवा को लेने से पहले हमेशा डाक्टर से सलाह लें। ताकि इस बात का आपको पता चल सके कि कौन सी दवा कब और कितनी मात्रा में लेनी है। ताकि आप दवाओं के ओवरडोज से बच सकें।
2. जब तक बेहद जरूरी न हों आप पेनकिलर्स न लें।
3. जो लोग डायबिटीज, दिल की बीमारी, रक्तचाप व किड़नी की समस्या से ग्रसित हों वे भी पेनकिलर्स बिना डाक्टर की सलाह लिए न खाएं।
4. पेनकिलर दवा हमेशा पानी के साथ ही सेवन करनी चाहिए। यदि पेनकिलर लेने से पेट में दर्द महसूस हो तो उस पेनकिलर को न लें।

दर्द को दूर करने के लिए अपनाएं ये तरीके-
1. जितना हो सकें खुश रहने की आदत डालें।
2. सप्ताह में एक दिन केवल फल और जूस का ही सेवन करें।
3. हमेशा ये सोचें कि आप रोगमुक्त हो।
4. खाना हमेशा भूख से कम ही खाएं।
5. योग, ध्यान और सुबह की सैर जरूर करें।

पेनकिलर्स अधिक लेना आपकी जिंदगी के लिए खतरनाक हैं। कोशिश ये करें कि हर छोटी-छोटी बीमारी में आयुवेर्दिकघरेलू नुस्खों का इस्तेमाल करें। इसलिए वैदिक वाटिका के आयुवेर्दिक और घरेलू नुस्खों में आपकी हर बीमारी का इलाज मिलेगा। यदि आप लंबी उम्र जीना चाहते हो तो ऐलोपेथिक दवाओं पर निर्भरता कम करें। ये भी पढे-निरोगी रहने के  आयुर्वेदिक उपाय

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।