वीर्य को जल्दी गिरने से रोकने के उपाय

बदलते हुए जमाने में हर चीज बहुत ही तेजी से हो रही है। जिसके फायदे तो हैं लेकिन नुकसान भी अधिक हैं। बदलती हुई जीवन शैली की वजह से पुरूषों में कई तरह की बीमारियां देखने को मिल रही हैं। एैसी ही एक समस्या है शीध्रपतन।  वीर्य का जल्दी गिरना आजकल एक आम समस्या बन गई है। जिसकी मुख्य वजह हैं युवाओं में टेंशन का अधिक लेनाए गलत साहित्य पढ़नाए गंदी फिल्में देखना व सही तरह का खान.पान न करना आदि है। यदि आप भी इस तरह की समस्या से परेशान हैं तो आप आयुर्वेद में दिए गए कुछ उपायों को अपने घर पर ही बनाकर इस परेशानी से ठीक हो सकते हों। शीध्रपतन जैसी समस्याओं से बचने के लिए वैदिक वाटिका आपको बता रही है आसान नुस्खे।

वीर्य को जल्दी गिरने से रोकने के वैदिक उपाय

बबूल का पंचाग

बबूल शीध्रपतन की समस्या को आसानी से कम कर देता है। बबूल के पत्तेए छालए फलए गोंद और फूल को बराबर मात्रा में लेकर अच्छे से सुखा लें और फिर इसे पीस लें। अब कपड़े से छानकर इसे किसी शीशी में भरकर रख दें।

ये भी पढे-शिलाजीत के फायदे और नुकसान

सेवन की विधि

बबूल के बने इस चूर्ण का सेवन सुबह और शाम को पानी के साथ एक.एक चम्मच लें। यह उपाय दो माह तक करें। इस उपाय से वीर्य का जल्दी गिरना बंद हो जाता है।

मुलहठी

अष्वगंधा 100 ग्रामए मुलहठी 50 ग्राम और शतावर 200 ग्राम। इन सभी को मिलाएं और पीसकर चूर्ण बना लें। और साफ कपड़े से छानकर कांच की शीशी में भर लें।

सेवन की विधि

मुलहठी से बने इस चूर्ण को रोज सुबह.शाम आधा चम्म्च मीठे दूध के साथ सेवन करना चाहिए। यह उपाय शीध्रपतन को ठीक करता है।

ये भी पढे.शिलाजीत के फायदे और नुकसान

अष्वगंधा

50 ग्राम अष्वगंधाए 50 ग्राम नागकेसर और अजवायन को मिला लें और इसे पीस लें। अब इसे किसी साफ कपड़े से छानकर कांच की बोतल में रख लें।

सेवन का तरीका

इस चूर्ण को हल्के गर्म दूध में आधी चम्मच मिलाकर सुबह के समय में सेवन करें। इस उपाय को रोज करने से वीर्य जल्दी से नहीं झड़ता है।

अजवायन सेवन

अजवाइन जहां एक ओर शरीर को निरोग रखती है वहीं दूसरी ओर यह भी पुरूषों की कई बीमारियों को ठीक करती है। आधा चम्मच पिसी हुई अजवायन और एक चम्मच पिसी हुई बारीक मिश्री को मिलाकर सुबह. शाम गुनगुने दूध के साथ सेवन करें। यह नुस्खा भी वीर्य को जल्दी गिरने की समस्या को ठीक करता है।

 ये भी पढ़े-अंकुरित चनों में छुपा है ये राज़

पिसी हुई धनिया

पिसा हुआ धनिया पौरूष शक्ति को बढ़ाने का काम करता है। 100 ग्राम पिसी हुई धनिया और 100 ग्राम पिसी हुई मिश्री को बराबर मात्रा में मिला लें और इस चूर्ण को किसी कांच की बोतल या शीशी में भर लें।

सेवन का तरीका

यह चूर्ण सुबह के समय खाली पेट एक चम्मच मठ्ठे के साथ सेवन करें। और रात में भी एक चम्मव छाछ के साथ लें। इस अचूक उपाय से वीर्य जल्दी से नहीं गिरता है।

ये भी पढे-आयुर्वेदिक टिप्स – इन चीजों से करें परहेज
जब भी आप इन उपायों को करें तो कुछ चीजों का सेवन आपको बंद करना है। जैसे की तेज मिर्च मसाले का सेवन करना, शराब पीना, गर्म मसाले और अधिक चटपटे खाने आदि से। क्योंकि ये चीजें आयुवेर्दिक दवाओं के असर को घटा देती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।