शिशु के लिए नारियल तेल के फायदे

आपने नारियल के तेल के बारे में तो जरुर ही सुना होगा कि यह सेहत एंव सुन्दरता के लिए प्राकृतिक के द्वारा दिया गया एक अनमोल उपहार है। यह हर उम्र के लोगों के लिए लाभकारी होता है। आप नारियल के तेल को खाने के साथ साथ शरीर पर भी इस्तेमाल कर सकते हैं। जब आप नारियल तेल से शिशु की मालिश करते हैं तब शिशु को इससे बहुत ही फायदा प्राप्त होता है।

इससे उसका स्वास्थ्य ठीक रहता है। इसके साथ ही उसका शारीरिक विकास भी बहुत ही तेजी के साथ होता है। आज हम आपको शिशु के लिए नारियल तेल के फायदे में बताएगें। जिसे पढ़कर आप इसका उपयोग शिशु पर जरुर करोगें। तो चलिए जानते हैं नारियल तेल के द्वारा शिशु को किस तरह के फायदे प्राप्त होते हैं।

लारिक एसिड

जो महिलाएं गर्भावस्था के समय नारियल या नारियल तेल से बने हुए उत्पादों का उपयोग करती हैं। इससे उनके ब्रेस्ट मिल्क में लारिक एसिड की मात्रा बढने लगती है जोकि बच्चे के विकास में अहम भूमिका को निभाता है। इससे बच्चे के शरीर में किसी भी बाहरी इन्फेक्शन का प्रभाव नहीं पड़ता। बच्चा हमेशा स्वस्थ रहता है।

बच्चों की अच्छी नींद में सहायक

जब आप नियमित नारियल तेल से बच्चे की मालिश करते हो, तब उसका शारीरिक और मानसिक विकास तीव्र गति से होता है। साथ ही उनकी हड्डियों को भी मजबूती मिलती हैं। इससे शरीर में ताजगी और स्फूर्ति आती है। इससे बच्चों की मांसपेशियों को बहुत ही आराम प्राप्त होता है।

त्वचा संबधी समस्याओं के निदान में सहायक

जब आप नारियल तेल के द्वारा शिशु की मालिश नियमित रूप से करते हो तब उसकी त्वचा काफी अच्छी हो जाती है। उसकी त्वचा में निखार आता है साथ ही नमी भी बरकरार रहती है। इसके इलावा बाहरी संक्रमण का असर त्वचा पर नहीं होता। जिससे त्वचा सुरक्षित रहती है।

बच्चे के पाचन तन्त्र को मजबूत बनाएं

नारियल के तेल में फाइबर की उच्च मात्रा पाई जाती है साथ ही इसमें वसीय गुण भी पाएं जाते हैं। जो भोजन को पचाने के लिए फायदेमंद होते हैं। इसका सेवन करने से पाचन क्रिया ठीक रहती है। इसलिए बच्चों को हर रोज एक चम्मच नारियल तेल का सेवन जरुर करवाना चाहिए। जब बच्चा नियमित रूप से इसका सेवन करता है तब उसका शारीरिक विकास अच्छे से होता है। आंवले के फायदे और नुकसान

रोग प्रति रोधक क्षमता को बढायें

नारियल के तेल में एंटी फंगस और एंटी बैक्टीरियल जैसे गुण पाएं जाते हैं। जो बच्चों के बाहरी इन्फेक्शन से लड़ने में सहायक होते हैं। जब आपका बच्चा नियमित रूप से करता है तब उसके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत होती है। जिससे उसका शरीर स्वस्थ बना रहता है। इसलिए बच्चे की नारियल तेल के द्वारा मालिश करनी चाहिए और साथ ही उसे यह खाने को भी देना चाहिए। यह दोनों ही उसके लिए फायदेमंद साबित होते हैं।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।