सर्दियों में सेहत – अंदर से गर्म रहने के टिप्स

सर्दियों में ठंड से बचने के लिए केवल कपड़े ही काफी नहीं होते है इसके अलावा आपको अंदर से भी गर्म रहना बेहद जरूरी है। जिसके लिए आपको अपने खाने में कुछ वैदिक चीजों का इस्तेमाल करना होगा। आयुर्वेद में सर्दियों के मौसम में ठंड से बचने के लिए आंतरिक रूप से कैसे गर्म रहा जाता है इसके बारे में पूरी जानकारी दी गई है जिसे  वैदिक वाटिका आपको बता रही है।

सर्दियों में सेहत – अंदर से गर्म रहने के टिप्स

शहद
सर्दियों में शहद  सेवन करने से शरीर को उर्जा मिलती है और आप सर्दियों में होने वाली कई बीमारियों से भी बचे रहते हो। इसलिए दिन में भोजन करते समय शहद को भी शामिल करें। शहद खाने से पाचन संबंधी सभी तकलीफें दूर होती हैं।

बादाम
नियमित रूप से आप बादामों का सेवन करें। बादाम खाने से सर्दियों में ठंड नहीं लगती है। बादाम शरीर को अंदर से गर्म रखता है। साथ इसके सेवन से पेट की कब्ज की समस्या भी ठीक होती है। बादाम कमजोर याददाशत को भी बढ़ाता है और मधुमेह यानि डायबिटीज को भी नियंत्रण में रखता है।

अदरक
सर्दियों में अदरक को अपने खाने में जरूर शामिल करें। अदरक गले संबंधी बीमारियों को दूर करता है और शरीर को अंदर से गर्म भी रखता है। इसके अलावा अदरक सर्दियों में होने वाली छोटी-बड़ी बीमारियों को शुरूआत में ही रोक देता है।

तिल
तिलों के सेवन से सर्दियों में शरीर का उर्जा मिलती है। तिल के तेल से मालिश करने से ठंड नहीं लगती है। इसके अलावा तिल में पोषक तत्व जैसे कार्बाहाइड्रेट, प्रोटीन और कैल्शियम मौजूद होता है। गले में जमे हुए कफ को निकालने के लिए मिश्री और तिलों का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए।

बाजरा
शरीर को अंदर से गर्म रखने में बाजरा बेहद महत्वपूर्ण होता है। बाजरे का इस्तेमाल आप इसकी टिक्की व बाजरे की रोटी के रूप में कर सकते हो।

सब्जियां
सर्दियों में गाजर, मेथी, पालक, चुकंदर, लहसुन और बथुआ का सेवन जरूर करें। ये सब्जियां शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं और शरीर को अंदर से गर्मी भी देती हैं।

सर्दियों में सेहत का खास ख़याल रखें ।  

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।