साबुदाने के फायदे

भारत में खासतौर पर उत्तर भारत में साबूदाना अधिक खाया जाता है। व्रत में साबूदाना खास महत्व रखता है। यह एक फलाहार माना जाता है। व्रत में लोग सबूदाने का दलिया या खिचड़ी बनाकर खाते हैं।
दखने में सफेद छोटे से मोती कि दिखने वाला साबूदाना आपकीे सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद है। साबूदाना अफ्रीका का पौधा है। सैगो पाम के पेड़ से बनाया जाता है साबूदाना। कार्बोहाइड्रेट और कैल्शियम के साथ साथ यह विटामिन्स का सबसे अच्छा स्त्रोत है।

सेहत संसार आपको बता रहा है साबूदाना खाने से मिलने वाले फायदों के बारे में।

साबुदाने के आयुवेर्दिक फायदे

दस्त की समस्या में
यदि किसी कारण से दस्त की समस्या हो गई हो तो आप दूध के बिना बना हुआ साबूदाने का जरूर सेवन करें। इससे आपको जल्दी दस्त से आराम मिल जाएगा।
ताकत बढ़ाने के लिए
शरीर में यदि आप उर्जा बढ़ाने के लिए तरह तरह के कैमिकल युक्त चीजों का सेवन करते हैं तो इसे बंद करें। क्योंकि साबूदाने में मौजूद गुण आपको अंदर से एैसी ताकत देगें जो बाकी की चीजे नहीं दे पाएगीं। आप अपने सुबह के नाश्ते में साबूदाना जरूर खाएं। नियमित साबूदाना खाने से आपको जल्दी थकान नहीं लगेगी।

पाचन के लिए
कुछ लोगों यह समस्या रहती है कि वे खाना पचा नहीं पाते हैं। वैसे तो यह समस्या एक आम समस्या है। और भारत में खासतौर से लोग पेट की समस्या से ग्रसित रहते हैं। आप यदि साबूदाना अपनी डायट में शामिल करते हैं तो कुछ ही दिनों में आपको अच्छे नतीजे मिलेगें।

चेहरे की त्वचा के लिए
यदि आप उम्र के बढ़ते हुए प्रभाव को खत्म करना चाहते हैं तो इसके लिए आप साबूदाने से बना हुआ फेसमास्क का इस्तेमाल करें। क्योंकि यह फेसमास्क आपके चेहरे पर कसावट लाता है। और आप फिर से जवां दिखने लगते हैं।

मांसपेशियों और हड्डियों के लिए
साबूदाने में मौजूद आयरन, विटामिन और कैल्शियम मांसपेशियों और हड्डियों की कमजोरी को दूर करके उन्हें मजबूत बनाता है। यही नही साबूदाना खाने से मांसपेशियों का विकास भी होता है।
एनीमिया की बीमारी में
एनीमिया यानी की खून की कमी की समस्या से अक्सर लोग परेशान रहते हैं। साबूदाना आपकी यह समस्या दूर कर सकता है। साबूदने में मौजूद गुण इंसान के अंदर लाल रक्त वाहिकाओं का निमार्ण करते हैं। जिन लोगों को खून की कमी यानि एनीमिया है वे साबूदाना खाएं।
गर्भ में मौजूद शिशु के लिए
गर्भ में पल रहे शिशु की अच्छी सेहत के लिए साबूदाना एक कारगर औषधि है। यदि गर्भवती महिला साबूदाने का सेवन करती हैं तो इससे शिशु का उचित विकास होता है। और बाद में एक निरोगी शिशु जन्म लेता है।
हाई ब्लड प्रेशर यानि उच्च रक्तचाप
कम उम्र हो या अधिक उम्र उच्च रक्तचाप की समस्या आजकल सभी लोगों को होने लगी है। आप साबूदाने का सेवन करना शुरू कर दें । क्योंकि साबूदाना शरीर में रक्त संचार को आसान बनाता है। इसी कारण शरीर में मौजूद धमनिया आपना कार्य ठीक तरह से करती है।
उच्च रक्तचाप की बीमारी को दूर करता है साबूदाना।
इसके अलावा भी कई एैसी बीमारियां है जिन्हें सबूदाना ठीक करता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।