रस्सी कूदने के फायदे

रस्सी कूदने के फायदे

खिलाड़ी भले ही किसी भी खेल का क्यों न हो वो अपने स्वास्थ्य के प्रति हमेशा सचेत रहता हैं। वो रस्सी कूदने के फायदे के बारे में भली भांति जानता है। इसी लिए वो अपने नियमित व्यायाम में इसे सम्मिलित करता है। रस्सी कूदना सबसे अच्छा और बेहतर व्यायाम माना जाता है। क्योंकि इससे कुछ ही समय में हमारे शरीर का पूरा व्यायाम हो जाता है।

रस्सी कूदने से हमें फायदा बचपन में ही नहीं बल्कि हर उम्र में मिलता है आप जान चुके होगें कि आज हम रस्सी कूदने के फायदे के बारे में बात कर रहें हैं जी हाँ अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं तो आपको जरुर रस्सी कुदनी चाहिए। रस्सी कूदने की सबसे ख़ास बात यह होती है कि आप इसका इस्तेमाल कही भी कर सकते हैं। यात्रा के समय भी आप इसे अपने साथ ले कर जा सकते हो रस्सी कूदने से हमारी मांसपेशिया और जांघ को मजबूती प्रदान होती है।

इससे हमारा शरीर चुस्त और फिट रहता है जब आप लगभग दस मिनट तक रस्सी कूदते तब यह आपकी आठ मिनट की दौड़ के बराबर हो जाती है एक मिनट तक रस्सी कूदने से दस से सोलह कैलोरी ऊर्जा खर्च होती है। इसके इलावा हमें जो रस्सी कूदने से स्वास्थ्य लाभ प्राप्त होते हैं। जैसे लंबाई का बढ़ना, हाथों में मजबूती आना, एडियों और घुटनों की दर्द में, मोटापा कम करें आदि। आइये जानते हैं रस्सी कूदने के फायदे के बारे में।

हाथों की मजबूती के लिए

जब हम नियमित रूप के साथ रस्सी को कूदते है तब आपके हाथों की एक्सरसाइज होती है और साथ ही आपके हाथों को मजबूती मिलती है। इतना ही नहीं, इससे हाथों के साथ साथ कंधो को भी ताकत मिलती है।

लंबाई बढ़ाने के लिए

अगर आपके बच्चों की लंबाई न बढ़ रही हो तो आपको परेशान नहीं होना चाहिए। बच्चों को नियमित रूप से रस्सी कूदने की आदत डालें। इससे आपके बच्चों की लंबाई तेजी से बढ़ेगी।

मोटापे के लिए

वजन को कम करने में रस्सी कूदने से बड़ी मदद मिलती है। जब आप नियमित रूप सेव आधा घंटा रस्सी कूदते हो तब आप अपना 500 ग्राम वजन कम हो जाता है। जिस समय आप रस्सी कूदते हैं उस समय आपका पूरा शरीर गति करता है और आपके शरीर में जहां पर अधिक चर्बी होती हैं। वहां पर प्रेशर पड़ता है। जिसके कारण धीरे धीरे से आपका मोटापा कम होने लगता है। मोटापे को कम करने के लिए आपको हर रोज पन्द्रह से बीस मिनट तक रस्सी कुदनी चाहिए।

एडियों और घुटने के दर्द के लिए

जब आप पहले दिन रस्सी कूदते हो तो हो सकता है की आपकी एडियों और घुटनों में दर्द होने लगें। इसका कारण लंबे समय तक सुस्त पड़ी मांसपेशियां हैं । लेकिन जब आप नियमित रूप से रस्सी कूदते हो तो एड़ियो और घुटने का दर्द खत्म होने लगता है। यदि आपकी एड़ियो और घुटने में दर्द हो तब आपको धीरे धीरे से रस्सी कुदनी चाहिए। इससे आपकी एड़ी और घुटने को ताकत प्राप्त होती है।

कैलोरी बर्न करता है

रस्सी कूदने से शरीर की अधिक कैलोरी तेजी से बर्न अर्थात जलने लगती है जिससे आपका शरीर पहले की तरह स्लिम होने लगता है।

विषैले तत्वों का शरीर से बाहर निकल जाना

जिस समय हम रस्सी कूदते है उस समय शरीर से विषैले तत्व पसीने के रूप में बाहर निकल जाते हैं और हमारा शरीर निरोग हो जाता है।

तनाव से राहत

हर रोज नियमित रूप से दस से पन्द्रह मिनट तक रस्सी कूदने से दिमाग की कमजोरी दूर होती है और इसके आपको टेंशन भी दूर हो जाती है।

दिल की बीमारी के लिए

आप जिस समय रस्सी कूदते है उस समय आपके दिल की धड़कने तेजी से सक्रिय होने लगती है जो हमें दिल की बीमारियों से बचाती है। इससे दिल को साफ़ हवा भी मिलती है यही कारण है की रस्सी कूदने वालों को ह्रदय संबंधी रोग की संभावना कम होती है।

कलाईयों को मजबूती

जिस समय आप रस्सी कूद रहे होते हैं उस समय आपके दोनों हाथों की कलाईयाँ भी घूम रही होती है। ऐसा करने से आपकी कलाईयों को मजबूती मिलती है। इससे कलाइयों और उँगलियों की अकडन भी ठीक हो जाती है। इससे शरीर के सभी भागों का व्यायाम अच्छे से होता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।