प्रेगनेंसी के लक्षण

गर्भावस्था या प्रेगनेंसी है या नहीं इस बात को लेकर महिलाओं में काफी आम चर्चा रहती है। 6 से 7 सप्ताह में जब गर्भ ठहरने से शरीर में अधिक परिवर्तन नहीं होता है तब शरीर के कुछ लक्षणों के द्वारा प्रेगनेंसी का पता लगाया जा सकता है। वैसे तो प्रेगनेंसी टेस्ट बेहतर होता है लेकिन कुछ एैसे लक्षणों के आधार पर भी इस बात का पता लगाया जा सकता है। कि आप गर्भवती हो या नहीं। गर्भावस्था या प्रेगनेंसी के शुरूवाती लक्षणों के बारे में एक-एक कर इन बातों पर ध्यान देना चाहिए।

मासिकधर्म का रूकना
गर्भ ठहरने का पता इस बात से भी लग जाता है जब महिलाओं में मासिकधर्म रूक जाता है। शुरूआत के 8 सप्ताह में थोड़ी ब्लीडिंग प्रेगनेंसी का शुरूआती लक्षण माना जा सकता है। वैसे तो गर्भ ठहरने के पहले ही कुछ दिनों के भीतर ही मासिकधर्म आना बंद हो जाता है। लेकिन यह लक्षण भी पूरी तरह से नहीं माना जा सकता है क्योंकि दूसरी समस्याओं की वजह से भी पीरियड्स रूक सकते हैं।

थकान अधिक लगना
प्रेगनेंसी का दूसरा लक्षण है सुबह की थकान होना जिसे मॉर्निंग  सिकनेस भी कहा जाता है। इस दौरान महिला के शरीर में प्रोजेस्टोन हार्मोन बनता है। जिसकी वजह से शरीर में थकान आने लगती है। और शरीर बहुत ही जल्दी थक जाता है।

उल्टियां और जी का मचलाना
ज्यादतर महिलाओं के मासिकधर्म रूकने के 7 सप्ताह के बाद, जी मचलने की समस्या अधिक होती है। कई बार महिलाओं को उल्टियां भी होने लगती है। यह भी एक कारण है गर्भवती होने का।

ब्रेस्ट आकार में परिवर्तन
यह एक और लक्षण है जिसमें ब्रेस्ट का आकार बढ़ने लगता है और वे पहले के मुकाबले सक्त होने लगते हैं। यह दूसरे से तीसरे सप्ताह में इस तरह का परिवर्तन आने लगता है। हार्मोन के बदलाव के कारण ब्रेस्ट की त्वचा का रंग भी बदलने लगता है।

खाने की रूची बदलना
गर्भावस्था के शुरूआती लक्षणों में स्त्री के खाने के स्वाद, महक और पसंद आदि में भी बदलाव दिखने लगते हैं। यह लक्षण महिलाओं में आम रूप से देखा जा सकता है। कई बार ना पसंद चीजों से शरीर में एलर्जी तक भी हो जाती है।

पेट में गैस, एसिडिटी होना
शरीर में हार्मोनस के बदलाव के कारण गर्भ के 6 सप्तहा में पेट में एसिडिटी, गैस और दर्द जैसे लक्षण दिखाई देन लगते हैं। यह सब पाचन क्रिया में गड़बड़ी के कारण हो सकता है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।