पपीते के पत्तों का रस – होंगे यह रोग दूर

पपीता का फल हो, इसके बीज हों या इसकी पत्तियां, तीनों ही सेहत के लिए बहुत ज्यादा फायदेमंद होते हैं। पपीते में कई सारे न्यूट्रिएंट्स जैसे विटामिन ए, सी, के, नियासिन, मैगनीशियम, पोटैशियम, प्रोटीन, कैरोटिन के साथ ही बहुत सारा फाइबर मौजूद होता है। जो डाइजेशन सही रखता है साथ ही लिवर की भी सफाई करता है। इसके बीजों का इस्तेमाल सलाद, स्मूदीज और अलग-अलग डिशेज को गॉर्निश करने के लिए किया जाता है। जानते हैं पपीते का जूस पीने से सेहत को कौन-कौन से लाभ होते हैं।

डेंगू बीमारी करें दूर

डेंगू के मरीज को डॉक्टर पपीते के पत्तियों का जूस पीने की सलाह देते हैं क्योंकि इसके पत्तियों में पॉपेन एंजाइम पाया जाता है जो ब्लड सेल्स को बढ़ाने का काम करता है। कई सारी दवाओं को बनाने में भी इसकी पत्तियों के रस का इस्तेमाल किया जाता है। 

पीरियड्स प्रॉब्लम करे दूर

हॉर्मोन्स और थॉयराइड की गड़बड़ी की वजह से ज्यादातर महिलाओं के साथ पीरियड्स को लेकर अनियमितता बनी रहती है। साथ ही पीरियड्स के दौरान उन्हें दर्द और हैवी ब्लीडिंग की समस्या का भी सामना करना पड़ता है। पपीते के पत्तों का जूस पीकर इन सभी समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है।

इन्फेक्शन की प्रॉब्लम करे दूर

पपीते के पत्तों का जूस पीना वायरल इन्फेक्शन में बहुत ही फायदेमंद होता है। ये वाइट ब्लड सेल्स और प्लेटलेट्स को बढ़ाता है। इसके पत्तियों में विटामिन ए, सी और ई की मात्रा शामिल होती है जो इम्यून सिस्टम को सही रखते हैं।

विटामिन सी और फोलेट का खजाना

पपीते के पत्तों का जूस विटामिन सी और फोलेट का अच्छा स्रोत होता है। फोलेट से भरपूर डाइट बॉडी में नए टिश्यूज बनाता है। इसके अलावा विटामिन सी टिश्यूज को मजबूत बनाने के साथ ही कोलेजन का प्रोडक्शन करता है, एक ऐसा प्रोटीन जो हड्डियों, स्किन, ब्लड वेसेल्स इन सबके लिए बहुत ही जरुरी है। एक कप पपीते के पत्ते के जूस में लगभग 164 मिग्रा विटामिन सी मौजूद होता है जिसकी रोजाना बॉडी को जरूरत होती है।

विटामिन ए और लाइकोपीन

पपीते के पत्ते के जूस में मौजूद कैरोटिनॉयड्स तत्व विटामिन ए का अच्छा स्रोत होता है। इसके अलावा दूसरा कैरोरटिनॉयड, लाइकोपीन बीमारियों से लड़ने में मददगार होता है। पपीते से मिलने वाला विटामिन ए आंखों के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। लाइकोपीन टिश्यूज डैमेजिंग को रोकता है जिससे प्रोटेस्सट कैंसर का खतरा कम होता है। जहां पुरुषों को रोजाना 85 प्रतिशत विटामिन की जरूरत होती है तो वहीं महिलाओं को 100 प्रतिशत। जिसे पूरा करने के लिए पपीता खाना बहुत ही अच्छा ऑप्शन है।

 

पोटैशियम और कॉपर

पपीते के पत्तों का जूस पीकर बॉडी में पोटैशियम और कॉपर की कमी को आसानी से पूरा किया जा सकता है। ये दोनों ही टिश्यूज की मेनटेनिंग से लेकर उसकी डैमेजिंग तक के लिए जिम्मेदार होते हैं। पोटैशियम की मात्रा कॉर्डियोवैस्कुलर हेल्थ को बनाए रखने के लिए बहुत ही जरूरी है।

चेहरे की रंगत निखारें

हेल्दी और ग्लोइंग स्किन की चाहत रखने वालों के लिए पपीते के पत्तों का जूस पीना बहुत ही फायदेमंद होता है। ये न केवल चेहरे के दाग-धब्बों को दूर करता है बल्कि पोर्स को भरने में भी कारगर है। इसका पॉपेन एंजाइम डेड सेल्स को दूर करके चेहरे की रंगत निखारता है।

गैस और कब्ज का अचूक इलाज

पॉपेन एंजाइम से भरपूर पपीते के पत्तों का जूस पीने से गैस और अपच की समस्या दूर होती है। इसके अलावा एक दूसरा तत्व कॉर्पेन भी कई सारे रोगों के इलाज की कारगर दवा के रूप में जाना जाता है।

इम्यूनिटी पावर बढ़ाए

पपीते के पत्तों का जूस विटामिन ए और सी से भरपूर होता है जो बॉडी की इम्यूनिटी पावर को बढ़ाता है, जिससे कई प्रकार के बीमारियों के होने की संभावना शत-प्रतिशत तक कम हो जाती है।   

टॉन्सिल का उपचार

गले में टॉन्सिल की समस्या से परेशान हैं तो पपीता के पत्तों का ताजा जूस पीएं, तुरंत आराम मिलता है।

कैंसर से बचाव

पपीते के पत्तों का जूस पीकर कैंसर रोग की संभावनाओं को काफी हद तक कम किया जा सकता है। इसमें मौजूद फाइबर बॉडी के सारे टॉक्सिन्स को बाहर निकालकर उसे फिट एंड फाइन रखता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।