पंचगव्य निर्माण और फायदे

पंचगव्य का धार्मिक महत्व तो है ही साथ ही मानव जीवन के स्वास्थ के लिए भी कई गुना इसका महत्व है। पंचगव्य क्या है? पंचगव्य गाय के दूध, घी, दही, गोबर का पानी और गोमूत्र का मिश्रण है। इन पाचों चीजों को मिलाने से जो तत्व बनता है वो पंचगव्य कहलाता है। आयुर्वेद में इसे औषधि के रूप में माना गया है। पंचगव्य रोग नाशक औषधि है क्योंकि गाय के गोबर में चर्म रोग को दूर करने की क्षमता है। गाय के मूत्र में आक्सीकरण की क्षमता की वजह से डीएनए को खत्म होने से बचाया जा सकता है।

गाय के घी से मानसिक और शरीर की क्षमता बढ़ती है। और गाय के दूध से बनी दही में प्रोटीन शरीर को कई रोगों से बचाती है। इसलिए देसी गाय का पंचगव्य उत्तम होता है। गाय के हर एक उत्पाद में मानव के जीवन के लिए बेहद उपयोगी तत्व छिपे हुए हैं। भारतीय नस्ल की गाय में ही सबसे अधिक गुण पाए जाते हैं।
पंचगव्य के बारे में महर्षि चरक का कहना था कि गोमूत्र कषाय और काफी तेज होती है। जिसकी मुख्य वजह है इसमें मौजूद यूरिक एसिड, अमोनिया, नाइट्रोजन, पोटेसियम, मैंगनीज के साथ-साथ विटामिन बी, ए, और डी का पाया जाना। जो ब्लड प्रैशर को नियंत्रित करते हैं। इसके अलावा यह पेट संबंधी रोगों को भी दूर करने में लाभदायक होता है।

देसी गाय के गोमूत्र और गोबर बेहद शक्तिशाली हैं। यदि वैज्ञानिक तौर से देखा जाए तो 23 प्रकार के प्रमुख तत्व गाय के मूत्र में पाए जाते हैं। इन तत्वों में कई मिनरल, विटामिन और प्रोटीन पाए जाते हैं।

गाय के गोबर को खेत में डालने से खेत के लिए लाभकारी जीवाणु मिलते है। गाय के गोबर की खाद से पैदा हुआ अन्न शरीर को हर तरह की बीमारियों से बचाव करता है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार भारतीय गाय की रीढ की हड्डी में सूर्य केतु नाम की एक अद्भुद नाड़ी होती है जब सूर्य की किरणें इन पर पड़ती है तो यह नाड़ी सूर्य की किरणों के साथ मिलकर सूक्ष्म कणों को बनाती है जिस वजह से देसी गाय का दूध हल्का पीला होता है। गाय का दूध अन्य दूसरे जानवरों के दूध से सबसे ज्यादा पौष्टिक और शरीर को निरोगी करने वाला होता है।                          ये भी पढ़े-इलायची के अनोखे फायदे

गाय का दूध हो चाहे घी हर एक-एक उत्पाद इंसान को बीमारियों से बचाने वाला होता है। इसलिए हर इंसान को आपने और अपने परिवार के लिए गाय के दूध का प्रयोग करना चाहिए। क्योंकि गाय का दूध पीने से कई तरह की बीमारियां शरीर को नहीं लगती हैं। और जो बिमारियां शरीर पर पहले से ही हैं उन्हें भी गाय का हर एक उत्पाद खत्म कर देता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।