संतरा खाने के फायदे

संतरे का स्वाद बहुत ही चटपटा होता है यहीं कारण हैं कि हर कोई इसे खाना पसंद करता है। नारंगी सर्दी हो या गर्मी दोनों ही मौसमों में ही फायदेमंद होती है। नारंगी की तासीर ठंडक देने वाली होती है।  नारंगी शरीर में विटामिन सी की कमी को पूरा करती है। क्योंकि इसे विटामिन सी का भंडार माना जाता है। इसके इलावा संतरे में एमिनो एसिड विटामिन ए, बी काम्प्लेक्स, कैल्शियम, आयोडीन, सोडियम फास्फोरस जैसे मिनरल्स पाएं जाते हैं।  संतरा खाने से  शरीर को चुस्त और दुरूस्त रखता है। साथ ही यह सुंदरता को भी बढ़ाता है।

आइये जानते हैं संतरा कैसे आपके लिए फायदेमंद होता है।

हाई ब्लडप्रेशर में फायदेमंद

संतरे में मौजूद पोटैशियम और मैग्नीशियम शरीर में हाई ब्लडप्रेशर को नियंत्रित करते हैं।

गठिया रोग में लाभदायक

संतरे का रस सेवन करने से गठिया के रोगियों को फायदा होता है। जिससे गठिया के दर्द में राहत मिलती है। प्रतिदिन एक गिलास संतरे का जूस पीकर आप गठिया से होने वाली परेशानी से काफी हद तक छुटकारा पा सकते हो।

कैंसर के प्रभाव को कम करें

संतरे में एंटीआक्सीडेट्स अधिक मात्रा में पाया जाता है जो कैंसर के प्रभाव को नष्ट करता है। कैंसर से बचने के लिए नित्य संतरे का जूस पीएं।

संतरे का जूस तनाव और थकान दोनों को एक साथ दूर करता है। और आपको उर्जा प्रदान करता है।

चोट के घावो को जल्दी भरें

संतरे के रस पीने से शरीर में घाव जल्दी से भरते हैं क्योंकि संतरे में फोलेट तत्व होता है। यह शरीर में नए सेल्स बनाने में मदद भी करता है जिससे घाव भर जाते हैं।

सुन्दरता को बढायें

संतरे के छिलकों को धूप में सुखा लें और फिर उनको पीस कर बारीक चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को दूध के साथ मिलाकर चेहरे पर लगाकर आधे घंटे के लिए छोड़ दें।

फिर ठंडे पानी से चेहरे को साफ कर लें। यह आपके चेहरे को प्राकृतिक चमक के साथ चेहरे को बेदाग बनाएगा।

सर्दी जुकाम में लाभकारी

संतरे का सेवन करने से आयरन को सोखने में मदद मिलती है।जब आप संतरे का सेवन करते हो तब आपको सर्दी जुकाम से राहत तो मिलती ही है। साथ ही यह  आपको खांसी में भी आराम प्रदान करता है। संतरा कप को पतला कर शरीर से बाहर निकाल देता है। जिससे नाक और छाती में होने वाली परेशानी से राहत मिल जाती है।

बवासीर में फायदेमंद

अगर आप बवासीर से परेशान है तो खाना खाने के बाद नियमित रूप से आधा गिलास संतरे के जूस का सेवन करें। इससे बवासीर में आराम मिलता है साथ ही पेट के अल्सर के लिए भी यह फायदेमंद साबित होता है।

पेट के रोगों को दूर करें

पेट में गैस, अपच और कब्ज को दूर करने में संतरा बहुत ही फायदेमंद साबित होता है। संतरे में मौजूद फाइबर और सिट्रिक एसिड पाचन तन्त्र को मजबूत बनाते हैं। इसका सेवन करने से पाचन रस को बढ़ाया जा सकता है। जिससे पेट की अकडन, गैस, अपच आदि समस्याओं से छुटकारा पाया जा सकता है। फाइबर पाचन तन्त्र को बढाता है जिससे पाचन तन्त्र संबंधी सभी बीमारियां दूर हो जाती हैं।

छोटे बच्चों के लिए भी संतरा फायदेमंद

बच्चों के दांत निकलते समय वे काफी कमजोर हो जाते हैं। जिसकी वजह से उन्हें दस्त आदि लग जाते हैं।  ऐसे  में संतरे का रस देने से बच्चों में बेचैनी दूर होने के साथ उनकी पाचन क्रिया भी ठीक हो जाती है।

दांतों और मसूड़ों के लिए लाभकारी

संतरा दांतो के लिए बेहद फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें विटामिन   सी पाया जाता है।  यह मसूड़ों और दांतों की बीमारी को भी खत्म करता है। इसमें मौजूद विटामिन सी मसूड़ों को हेल्दी बनाता है।

दिल के लिए फायदेमंद

संतरे में पाएं जाने वाले मिनरल्स  शरीर में एनर्जी को बढ़ाते हैं। इससे दिल और दिमाग में स्फूर्ति और ताजगी आती है। दिल  के रोगी को  शहद में संतरे का जूस मिलाकर पीना चाहिए।

बुखार में फायदेमंद

बुखार होने पर संतरे के जूस का सेवन करने से शरीर का बढ़ा हुआ तापमान कम होता है। यह गुर्दों के रोग को भी दूर करता है।

संतरे का सेवन करते समय इन बातों पर ध्यान दें

1. भोजन करने से पहले और भोजन करने के बाद आप संतरे का रस न लें।

2. डायबिटीज के रोगीयों को भी संतरे से परहेज करना चाहिए।

3. जिन लोगों को एसिडीटी की परेशानी हो वे भी संतरे से परहेज करें। जितना हो सके संतरे का जूस अधिक मात्रा में न लें।

संतरा आपको इतने सारे फायदे देता है। इसलिए संतरे को अपनी डायट का हिस्सा बनाएं। संतरा सेहत और सौंदर्य देने के साथ आपको लंबी उम्र भी देता है। यह प्राकृति का अनमोल तोफा है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।