नाखूनों के रंग से जाने कैसी है सेहत

नाखून हाथों को सुंदर और आकर्षक बनाने के लिए महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। महिलाएं नाखूनों की सुंदर बनाने के लिए क्या-क्या नहीं करती हैं। लेकिन क्या आपको पता है नाखूनों में होने वाले छोटे-छोटे परिवर्तन सेहत के बारे में संकेत देते हैं। नाखूनों में कई तरह के बदलाव होते रहते हैं जिसका सीधा असर हमारे स्वास्थ पर पड़ता है। वैदिकवाटिका आपको नाखूनों में होने वाले बदलाव और उनके संकेतों के बारे में जानकारी दे रहा है जिससे आपको पता लग सके नाखूनों के रंग बदलने से क्या रोग हो सकता है और उनसे कैसे बचा जा सकता है।

नाखूनों पर काले धब्बे
यदि नाखूनों पर काले धब्बे या काली रेखा दिख रही हो तो यह मेलेनोमा की बीमारी का संकेत हो सकता है। यह धब्बे किसी एक नाखून या पैरों के नाखूनों में हो सकता है।

नाखूनों का रंग हल्का नीला होना
यदि नाखूनों का रंग नीला या हल्का नीला पड़ गया हो तो यह इस बात का संकेत देता है कि शरीर को ठीक तरह से आक्सीजन नहीं मिल रही है और फेफडों की समस्या हो सकती है।

सफेद नाखून होना
नाखूनों का सफेद पड़ना या सफेद धब्बों का दिखाई देना इस बात का संकेत देता है कि शरीर में विटामिन बी की कमी हो गई है। एैसे में आपको बाजरा, चना और ज्वार का सेवन अधिक से अधिक करना चाहिए। खासतौर से चने का क्योंकि चने में जिंक और विटामिन बी की मात्रा अधिक होती है। सफेद नाखून हेपेटाइटिस और लिवर की बीमारी की ओर भी इशारा करते हैं।

 नाखूनों का रंग फीका पड़ना
यदि नाखूनों का रंग फीका पड़ रहा हो या फिर वे गंदे दिख रहे हों तो यह इस बात का संकेत देता है कि शरीर में खून की कमी की समस्या हो गई है। इसलिए आपको अपने खाने में आयरन की मात्रा को बढ़ाना पड़ेगा। भोजन में बीनस, हरी पत्तेदार सब्जियां आदि को शामिल करें। फीके रंग के नाखून लिवर और डायबिटीज की बीमारियों की तरफ भी संकेत देते हैं।

नाखूनों का रंग पीला होना
नाखूनों का पीला होना फंगल इंफेक्शन का लक्षण हो सकता है। पीले नाखून कमजोर होकर टूटने लगते हैं। नाखूनों का पीलापन पीलिया, थायरायड, फेफड़ों के रोग, डायबिटीज और सिरोसि जैसी बीमारियों के संकेत देते हैं।

  • यदि नाखून रूखे हो रहे हों या नाखून उंगलियों की तरफ मुड़ रहे हों तो यह शरीर में आक्सीजन की कमी और लंग कार्डियोवस्कुलर से संबंधित बीमारी की ओर इशारा करता है।
  • नाखूनों पर एक से अधिक सफेद धारियां दिख रही हों तो यह शरीर में पोषक तत्वों की कमी और किडनी रोग की ओर संकेत करता है।
  • नाखूनों का कोमल व मुलायम दिखना और अंदर से खोखला नजर आना शरीर में लीवर की समस्या और आयरन की कमी की ओर इशारे करता है। आयरन की कमी की वजह से नाखून जल्दी टूटते हैं।
  • यदि नाखूनों में चमक न हो तो यह भी कई रोगों के लक्षणों का कारण होता है जैसे खून की कमी, लीवर से जुड़ी परेशानी और मधुमेह आदि।

नाखून सेहत के बारे में जानकारी देते हैं इसलिए अच्छे नाखूनों के लिए अपने खाने में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ाना चाहिए। महिलाओं को अधिक नेल पालिश का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। यदि आप बड़े नाखून रखते हैं तो उनके क्यूटिकल्स को साफ रखें। कोशिश करें नाखून ज्यादा बड़े न हों। हमारी सेहत का दर्पण है हमारे नाखून ।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।