मुनक्का के गुण और आयुर्वेदिक फायदे

munkka_3056

मुनक्का सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है। आयुर्वेद के अनुसार मुनक्का कई तरह की बीमारियों को ठीक करता है। मुनक्का शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के साथ साथ शरीर को उर्जा भी देता है। आंखों के रोग और गले से संबधित कई तरह की बीमारियों को खत्म करता है मुनक्का। आपको बेहद फायदे देगें मुनक्के ये फायदे। वैदिक वाटिका आपको मुनक्के के ऐसे फायदों के बारे में बता रही है जिससे आप निरोगी और स्वस्थ रहोगे।

मुनक्का के आयुर्वेदिक फायदे

गले की खराश

यदि गले में खराश की दिक्कत होती हो तो आप पांच मुनक्का के बीजों को बारीक चबाकर खाएं। और करीब आधे घंटे तक पानी और खाने वाली अन्य चीजों का सेवन न करें। इस उपाय को लगातर दस दिनों तक करें आपको इस रोग से निजात मिलने लगेगा।

सर्दी-जुकाम

सर्दी-जुकाम को ठीक करने में मुनक्का बेहद प्रभावशाली रूप से अपना काम करता है। मुनक्के में आयरन की अधिक मात्रा होती है जो शरीर को सर्दी-जुकाम से राहत दिलवाती है। यदि सर्दी -जुकाम से पेरशानी हो रही हो तो रात को सोने से पहले दूध में दो मुनक्के उबालें और इसका सेवन करें।

 

पुरूषों की समस्याएं

वीर्य संबंधी रोगों को ठीक करने के लिए आप एक गिलास दूध में दस मुनक्के मिलाकर गर्म कर लें और उपर से एक चम्मच घी डाकर सुबह के समय इसका सेवन करें। आपको इससे जरूर लाभ होगा।

 

नाक से खून आने पर

नाक से खून का आना यानि नकसीर का निकलना शरीर की कमजोरी का संकेत होता है। नकसीर की समस्या से निजात पाने के लिए आप दस मुनक्के रात को पानी में भिगो दें और सुबह इन मुनक्कों के बीजों को निकाल लें और इसका सेवन करें। इस उपाय को कम से कम दो सप्ताह तक जरूर करें। मुनक्का खून साफ करता है।

आंखों की रोशनी के लिए और सफेद दाग

उबले हुए दूध में थोडा सा घी और मुनक्के के साथ मिश्री को मिलाकर थोड़ा ठंडा कर लें और इसका सेवन करें। इस उपाय से आंखों की रोशनी तेज होती है साथ ही साथ सफेद दाग और नाखूनों की बीमारी भी ठीक हो जाती है।

 

बिस्तर पर पेशाब

जो बच्चे रात को सोते समय बिस्तर पर पेशाब कर देते हैं उन्हें मुनक्के के दो बीज रात को सेवन कराएं।

 

ब्लडप्रेशर

ब्लडप्रेशर कम रहता हो तो आप नमक वाले मुनक्के खाएं । यह ब्लडप्रेशर को सामान्य रखते है।

बुखार 

यदि बुखार कम न हो रहा हो तो ऐसे में मुनक्का किसी औषधि से कम नहीं है। बुखार होने पर एक अंजीर के साथ दस मुनक्का रात को पानी में भिगोने के लिए रख दें और अगले दिन रात में सोने से पहले भीगे हुए अंजीर और मुनक्का दूध में उबालें और इसे ठंडा करके सेवन करें। इस अचूक उपाय से बुखार आसानी से उतर जाएगा। यह प्रयोग लगातार तीन दिन तक करें।

 

बुखार में भूख न लगने पर 

यदि बुखार में भूख न लग रही हो तो दस मुनक्का भूने और इसमें एक चुटकी कालीमिर्च का पाउडर और एक चुटकी सेंधा नमक मिलाकर रोगी को खिलाएं।

 

कब्ज की समस्या का उपचार

कब्ज की समस्या ही शरीर में कई बीमारियों का कारण बनती है। ऐसे में मुनक्का आपको कब्ज की समस्या से बचा सकता है। मुनक्के में मौजूद फाइबर पेट की कब्ज को ठीक करने का काम करता है। हर रोज रात को सोने से कम से कम आधे घंटे पहले दूध में उबाले हुए मुनक्कों को बारीक चबाकर खाएं। और बाद में दूध भी पी लें। यह उपाय कब्ज से राहत देगा।

खून की कमी

शरीर में खून की कमी से इंसान के अंदर कमजोरी रहती है। ऐसे में मुनक्का आपकी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद है। आप रात को दस मुनक्का धोकर पानी में भिगोने के लिए डाल दें। और सुबह इनके बीजों को निकालकर इन मुनक्कों को बारीक चबाकर खाएं। इस उपाय से शरीर में खून की कमी दूर होती है।

नजला

नजले की वजह से गले में परेशानी होती है। ऐसे में आप रोज सुबह और शाम में चार मुनक्के जरूर खाएं। इससे नजला भी जल्दी ठीक हो जाता है।

मुनक्का के अन्य लाभ

यह शरीर को उर्जा देता है। मुनक्का की तासीर गर्म होती है जिससे यह फेफड़े, पेट के रोग, अधिक प्यास लगने की समस्या और पित्त रोग आदि रोगों को ठीक करता है ।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।