मानसून में सेहत का ऐसे रखें ख्याल

बारिश का मौसम आ चुका है और इस समय सबसे अधिक खतरा रहता है इंफेक्शन का शरीर पर लगना। वर्षा के मौसम में शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता घट जाती है। एैसे में टाइफाइड,सर्दी.जुकाम, दस्त, पीलिया और डेंगू जैसी जानलेवा बीमारियां हो सकती हैं। और मासून की ये बीमारियां छोटे बच्चों से लेकर बड़े बजुर्गों को भी परेशान करती हैं। ऐसे में बहुत जरूरी है कि आपको अपने खान-पान पर ध्यान देना। वैदिक वाटिका आपको बता रही है कैसे करें अपनी सेहत की सुरक्षा इस मौसम में।
मानसून में स्वस्थ रहने के घरेलू उपाय

खाने में
मानसून के मौसम में गर्मी और उमस बहुत होती है। जिससे शरीर में विटामिनों की कमी होती है। एैसे में जरूरी है कि आप अपने भोजन में संतरे व नारंगी का जूस ए बादामए दूध से बनी चीजें और हरि सब्जियों का सेवन अधिक करें। यदि आप खाने में इन बताई गई चीजों का सेवन करते हैं तो इससे आपके शरीर की इम्युनिटी सिस्टम ताकतवर होगा। जिससे शरीर में बीमारियां लगने की संभावना नहीं होती है। जो लोग मांस का सेवन करते हैं वे मानसून के मौसम में रेड मीट आदि का सेवन करें।
बासी खाना हो सकता है खतरनाक
मानसून में यदि आप इफेक्शन से बचना चाहते हो तो बासी खाने का सेवन ना करें। बासी खाना पेट मे जाकर फंगस आदि बनाता है जब आप बासी खाना खाते हैं वह सीधे आपके पाचनतंत्र को प्रभावित करता है जिससे उल्टीए दस्त और सिर दर्द हो सकता है। इसलिए आप बासी खाना ना खाएं और सलाद और ताजे खाने को खाएं। इसके अलावाआप जो भी सब्जी व फल खाते हैं उन्हें अच्छी तरह से साफ करें। क्योंकि यह टाइफाॅइड को न्योता देता है।

पानी के साथ कोई समझौता नहीं
मानसून के मौसम में अक्सर प्यास कम लगती है। जिससे शरीर धीरे.धीरे कमजोर होने लगता है। इसलिए आप साफ पानी पीएं। जो लोग गांव में रहते हैं वे पानी को उबालकर उसे ठंडा कर के पीएं। पानी शरीर को पोषण देता है। ध्यान रखें आप जो पानी बाहर पीते हैं वे आपके लिए खतरनाक हो सकता है। इसलिए फिल्टर का पानी ही पीएं। पीलिया और टाइफाॅड की अधिक समस्याएं गंदे पानी के सेवन करने से होती हैं। इसलिए ध्यान रखें।

हल्का फुल्का खाना लें
सुबहए शाम और रात के खाने के बीच-बीच में हल्का-फुल्का कुछ ना कुछ खाते रहें। एैसा करने से शरीर अंदर से मजबूत बनेगा।

मानसून के मौसम का खूब मजे लें और बारिश आदि में नहाएं बस इन बातों को अपने ध्यान में जरूर रखें। सेहत का ध्यान रखने के लिए आपको जरूरी है कि कैसे अपने आपको बीमारियों से बचाया जा सकता है। इसलिए आप चिंता ना करें आपकी वैदिक वाटिका आपको समय-समय पर आपकी अच्छी सेहत के लिए जानकारी देती रहेगी।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।