मोबाइल को साफ़ और जर्म फ्री रखने के उपाय

मोबाइल को साफ़ और जर्म फ्री रखने के उपाय

आज के समय में अगर हम मोबाइल की बात करें तो यह हमारी एक जरूरत बन चूका हैं। हम खाने के बिना तो रह सकते हैं मगर मोबाइल के बिना कुछ समय तक रहना हमारे लिए नामुमकिन हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारे मोबाइल को किन किन परिस्तिथियों से गुजरना पड़ता है।

आपने देखा ही होगा कि मोबाइल पर तेल और उँगलियों के निशान नजर आते हैं। इसका कारण यह हैं कि आप मोबाइल को अक्सर अपने गंदे हाथों से छूते है और इसे गंदे स्थान पर ही रखते हैं। इससे आपके फोन की हालत ही बूरी नहीं दिखाई देती बल्कि यह एक संक्रमण का कारण भी बन जाता है। जो सेहत के लिए नुकसानदायक साबित होता है।

एक शोध में यह बात भी साबित हो चुकी हैं कि एक सामान्य मोबाइल फोन पर टायलेट सीट से दस गुना ज्यादा बैक्टीरिया होते हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए आज हम आपको मोबाइल को साफ़ और जर्म फ्री रखने के उपाय के बारे में जानकारी देने जा रहे हैं।

कैसे करें मोबाइल को साफ़

मोबाइल को समय समय पर साफ़ करते रहना चाहिए। इससे उनकी लाइफ तो बढती ही हैं साथ ही उस पर किसी प्रकार के बैक्टीरिया जमा नहीं होते। मोबाइल को साफ़ करने के लिए सबसे पहले अपने मोबाइल को बंद कर दें। अगर आपका मोबाइल केस में हैं तो उसको केस से निकाल लें।

रुई से करें साफ़

अपने मोबाइल को बंद करने के बाद रुई के फाहे को रबिंग एल्कोहल में डुबो लीजिए और इससे अपने मोबाइल फोन की स्क्रीन को साफ़ कीजिए। इस बात पर ध्यान दें कि रबिंग एल्कोहल को सीधा स्क्रीन पर न लगायें। फोन की स्क्रीन को ऊपर से नीचे तक एक ही स्ट्रोक में साफ़ करें।

अगर फोन की पैड है तो क्या करें

अगर आपके फोन में की पैड और बटन है तो रबिंग एल्कोहल में क्यू टिप डुबोकर बटनों के बीच के स्थान को साफ़ करें। इसे बहुत ही आराम से साफ़ करें और इस बात का ध्यान रखें कि लिक्विड फोन के अंदर न जाएं।

अंदर से कैसे करें साफ़

फोन को अंदर से साफ़ करने के लिए फोन को खोलकर क्यू टिप की मदद से साफ़ करें। याद रखें फोन के अंदरूनी हिस्से में किसी भी प्रकार का साल्यूशन या लिक्विड का इस्तेमाल न करें। इससे आपका फोन खराब हो सकता है।

सावधानी है जरूरी

फोन का यूएसपीऔर इयरफोन पोर्ट साफ़ करते समय आपको अतिरिक्त सावधानी बरतने की आवश्यकता होती है। यहाँ पर इस बात का ध्यान रखें कि रबिंग एल्कोहल फोन के अंदर न रिस जाएं। आप मोबाइल के इस हिस्से में फूंक मारकर धूल मिट्टी निकाल सकते हो। बच्चों पर मोबाइल और टेबलेट से होने वाले दुष्प्रभाव

फोन केस को भी करें साफ़

फोन की सफाई के साथ साथ फोन केस को भी साफ़ करना न भूले। फोन केस के कोनों और किनारों को अच्छी तरह से साफ़ करें। क्योंकि इन स्थानों पर मिटटी अधिक जमा होती है।

सूखने दें

जब आप अपने फोन को अच्छे से साफ़ कर लेते हो तब इसे यू ह सूखने दें और इसके बाद इसे केस में लगायें। अपने फोन को नियमित अंतराल पर साफ़ करते रहें। फोन की स्क्रीन को रोजाना साफ़ करने के लिए आप माइक्रोफाइबर कपड़े का इस्तेमाल कर सकते हैं।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।