मिश्री खाने के फायदे

चीनी के बड़े आकार को मिश्री कहते हैं। मिश्री को आप अधिकतर मंदिरों में प्रसाद के रूप मे ग्रहण करते हो। सौंफ के साथ मिश्री मिलाकर खाने से यह एक प्राकृतिक माउथ फ्रैश्नर की तरह काम करती है। मिश्री हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होती है। मुंह संबंधी कई बीमारियों को दूर करती है मिश्री। वैदिक वाटिका आपको बताएगी मिश्री खाने से आपको क्या फायदे मिलते हैं।
हाथ और पैरों की जलन में
यदि हाथ पैरों में जलन हो रही हो तो आप मिश्री को मक्खन में बराबर मात्रा में मिला लें और इसे हाथ और पैर में होने वाली जगह पर लगाएं।
स्फूर्ति और ताकत
मिश्री में मौजूद गुण शरीर को ताकत और स्फूर्ति देते हैं। इसके लिए गरम दूध में मिश्री और केसर को मिलाकर पीना चाहिए। इससे शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा भी बढ़ जाती है।
साइनस की समस्या
साइनस की समस्या को दूर करने के लिए मिश्री बहुत फायदेमंद होती है।
एक कटोरे पानी में 10 छोटी मिश्री के टुकड़े
दस काली मिर्च
और दस तुलसी पत्ते और
एक अदरक का टुकड़ा।
इन्हें उबाल लें। उबलने के बाद जब पानी आधा बच जाए तब इसे छानकर गुनगुना ही रोज सुबह खाली पेट इसका सेवन करें।

नकसीर आने पर
नाक से खून आने पर पानी में मिश्री को घोल लें और इसे रोगी को सूघने के लिए दें। इससे नकसीर आना बंद हो जाएगा।

मुंह के छाले
मुंह में छाले होने पर आप इलायची और मिश्री को पीस कर पेस्ट बना लें। और इस पेस्ट को छालों पर लगाने से छाले ठीक हो जाते हैं।

बवासीर में मिश्री
बवासीर में नागकेशर, मक्खन और मिश्री को बराबर मात्रा में पीस लें और सुबह और शाम के समय इसकी एक चम्मच गरम दूध में मिलाकर पींए। इससे बवासीर रोग में राहत मिलती है।

टांसिल्स के उपचार में
गले में टांसिल्स से राहत पाने के लिए मक्खन, मिश्री और इलायची को बराबर की मात्रा में मिला लें और इसे पीसकर पेस्ट बना लें और इसको सुबह और शाम खाएं। आपको जल्द ही टांसिल्स से राहत मिल जाएगी।

कमजोर आखों के लिए
आंखों की कमजोरी के लिए एक चुटकी ईलायची का चूर्ण
एक चम्मच सौंफ का चूर्ण
एक चम्मच मिश्री को दूध के साथ मिलाकर पीएं। इससे न सिर्फ आंखों की कमजोरी दूर होगी बल्कि इससे सिर का दर्द भी ठीक हो जाएगा।

मुंह की बदबू दूर करती है
खाना खाने के बाद मुंह की बदबू को दूर करने के लिए सौंफ के साथ मिश्री को मिलाकर खाएं। मिश्री और सौंफ खाने को भी पचाते हैं।

मिश्री चीनी से अधिक फायदेमंद होती है

मिश्री चीनी से अधिक फायदेमंद और स्वास्थयवर्धक होती है। इसलिए कई उत्पादों में चीनी की जगह मिश्री का प्रयोग होता है।

खांसी के लिए मिश्री
खांसी दूर करने के लिए मिश्री का इस्तेमाल करने से आप तुंरत राहत पा सकते हैं। मिश्री में मौजूद तत्व गले को साफ करके खांसी दूर करते हैं।

गले की खराश और गला बैठने पर
गला बैठ जाने पर मिश्री आपको राहत दे सकती है। इसके लिए आपको मिश्री में सोंठ यानि कि अदरक का पाउडर को मिलाकर पीस लें और इससे बने चूर्ण में थोड़ा शहद मिलाकर गोलियां तैयार कर लें। नियमित इन गोलियों को चूसने से आपका बैठा गला खुल जाएगा। साथ ही साथ यदि गले में खराश हो रहीहो वो भी दूर हो जाएगी।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।