गांजे से होगा माइग्रेन का इलाज

गांजा एक नशीली वस्तु व औषधी है। जिसका अधिक सेवन सेहत के लिए हानिकारक होता है। माइग्रेन सिर से संबंधित रोग है जिसकी वजह से सिर में भंयकर दर्द होता है। कभी-कभी तो सिर की नसें भी दर्द करने लगती है। लेकिन क्या आप जानते हैं। गांजे के सेवन से माइग्रेन का इलाज हो सकता है। इस बात को शोध के जरिए वैज्ञानिक सामने लाएं हैं। माइग्रेन के दर्द से पीडि़त इंसान को गांजे की खुराक देने से लाभदायक परिणाम सामने आए हैं। वैदिक वाटिका आपको गांजा लेने की सलाह नहीं दे रही है । 

शोधकर्ताओं ने वर्ष 2010-2014 के बीच माइग्रेन के दर्द से पीडि़त लोगों के उपर किया। उन्हें एक मात्रा में गांजा दवा के रूप में दिया गया। जिसका परिणाम यह हुआ की माइग्रेन 10.4 से घटकर 4.6 हो गया। इस रिसर्च को चिकित्सा और डेटा के आधार पर बेहद महत्वपूर्ण माना गया है।

 

यह शोध अमेरिका में स्थित युनिवर्सिटी आफ कोलोराडो अंचुत्ज मेडिकल कालेज में किया गया। इस शोध को 121 मरीजों पर किया गया था जिसमें से अधिकतर मरीजों तकरीबन 103 मरीजों को फायदा हुआ। जबकी 15 मरीजों को इसका कोई असर नहीं हुआ। साथ ही माइग्रेन पीडि़तों को दर्द से राहत तो मिली साथ ही उनकी काम करने की क्षमता में भी तेजी आई।

वैज्ञानिकों के अनुसार गांजा भी अन्य दवाओं की तुलना में फायदेमेंद और नुकसानदेय दोनों ही होता है। इसलिए सभी को इस बात का ज्ञान होना जरूरी है कि गांजे के क्या फायदे और नुकसान हैं।

हम आपको बता दे के गांजा पीना सेहत के लिए नुकसानदायक है।  

सौजन्य से-आईएएनएस/khabar.ibnlive.com

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।