मयूरासन योग के लाभ और करने की विधि

Yoga-Postures-Peacock-Posture-mayurasan

मयूरासन यानि मोर की आकृति का आसन। इस आसन में मनुष्य का शरीर मोर की आकृति की तरह बन जाती है। इसलिए योग में इस आसन का नाम मयूरासन रखा गया है। इस आसन को दो तरह से किया जा सकता है।  पहला जमीन पर हाथों के बल से शरीर को उठाकर और दूसरा तरीका है किसी मेज के किनारों को हथेलियों से बल देकर करना। वैसे पहला वाला तरीका ही मयूरासन में अधिक लाभ देता है। आइये आपको बताते हैं मयूरासन के फायदों और इसके करने के तरीकों के बारे में।

मयूरासन योग करने के फायदे और तरीके
मयूरासन से आपको बहुत फायदे मिलते हैं जैसे
भूख खुलकर लगती है
पेट से संबंधित कई रोग खत्म हो जाते हैं
कब्ज बहुत ही आसानी से दूर होती है
जठारग्नि को शांत करना
यदि इस आसन को पूरी तरह से कोई इंसान सक्षम हो जाता है तो उसे किसी भी प्रकार विष नहीं लगता है। क्योंकि जिस तरह से मोर विषैले और जहरीले सांपों को खा जाता है। और उस पर किसी भी तरह का विष नहीं लगता है।

मयूरासन को करने का तरीका
जमीन में सबसे पहले दरी या कंबल बिछा लें। और अब
आप घुटनों के बल बैठ जाएं
अब आप अपने दोनों हाथ की हथेलियों को जमीन पर रखें।
और अब कोहनियों को पेट के दोनो ओर एक दूसरे से सटा कर लगाएं। जैसा कि चित्र में दिखाया गया है।

हाथों के अंगूठे एक साथ लगे हुए हों। अब कोहनियों के सहारे सारे शरीर का भार उठा लें।

इस तरह से आपका शरीर मयूर की आकृति जैसा हो जाएगा। यानि कि यह मयूरासन की पूर्ण स्थिति है।

मयूरासन के बारे में यह भी कहा जाता है कि इस योग को नियमित करने से इंसान की उम्र तक लंबी हो सकती है। भयंकर रोगों को आसानी से ठीक हो जाते हैं इस आसन से।
मयूरासन की सावधानियां
वे लोग जिनके हाथों की हड्डियों का आॅपरेशन हुआ हो वे इस आसन को ना करें।
इसके अलावा बहुत छोटे बच्चे भी इस आसन को ना करें।
गर्भवति महिलाओं को भी ये आसन नहीं करना चाहिए।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।