मंत्रों से दूर होगी हर समस्या

मंत्रों बड़ी शक्ति होती है। आपकी जीवन की समस्याओं के साथ साथ यह मंत्र आपको कई खतरनाक बीमारियों से भी बचा सकते हैं। ये मंत्र सिद्ध हैं इसलिए इनपर विश्वास करें और नियमपूर्वक इसका जाप करें।
किसी से अपना काम बनवाना हो या किसी काम में सफलता प्राप्त करना चाहते हो तो इन मंत्रों का पढ़कर ही कोई काम शुरू करें।

हर काम में सफलता प्राप्त करने के लिए
ओम् नमो महा शाबरी शक्ति, मम अनिष्ट निवारय निवारय। मम कार्य सिद्धि कुरू-कुरू स्वाहा।
ओम् पीर बजरगीं, राम लक्ष्मण के संगी, जहां जहां जाए, फतह के डड़के बजाए, दुहाई माता अजंनि की आन।

सिरदर्द, याददाश्त चले जाना और हिस्टीरिया आदि रोगों में आप इस मंत्र का जाप करें
ओम् उमा देवीभ्यां नमः।
ओम् उमा देवीभ्यां नमः। मस्तिष्क रोग।

मोतियाबिंद, आंखों के रोग, रतौंधी जैसे रोगों के लिए एक कारगर मंत्र है इसका आपको नियमित जाप करें
ओम् शंखिनीभ्यां नमः
हृदय सबंधी रोगों से अक्सर लोग परेशान रहते हैं। यदि आप दिल की बीमारी से बचना चाहते हैं तो इस मंत्र का जाप नियमित करें
ओम् नमः शिवाय संभवे व्योमेशाय नमः

कानों की बीमारी से बचने के लिए जाप करें
ओम् धं धनुधारिभ्यां नमः
ओम् व्हां द्वार वासिनीभ्यां नमः

श्वांस सबंधी रोगों से बचने के लिए
ओम् नमः शिवाय शंभवे खगेशाय नमो नमः

मंत्रों को जपने के लिए आप तुलसी या रूद्राक्ष की माला का प्रयोग करें। हर मंत्र का कम से कम 108 बार उच्चारण करें।
जब आप मंत्र पढ़ंे तो जमीन पर किसी साफ आसन पर बैठकर ही पढ़ें। आपको जल्दी इससे फायदा मिलेगा।
आप नियमित इन मंत्रों का पाठ करें। धीरे धीरे आपको इन मंत्रों से बड़ा फायदा मिलने लगेगा। और आपकी बीमारी ठीक होने लगेगी।

दोस्तों मंत्रों में बड़ी शक्ति होती है। यदि आप नियम से और विशवास से मंत्रों का जाप करते हैं तो इससे आपकी बीमारी तो ठीक होगी ही साथ में आपके मन में शांति और आनंद भी आएगी।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।