मट्ठे के फायदे – सेहत के लिए

मट्ठे के फायदों के बारे में जानने से पहले आपको बताते हैं कैसे बनता है मट्ठा। दही में एक चौथाई पानी मिलाकर मथने से मट्ठा तैयार होता है। एकदम ताजा मट्ठा आपकी सेहत के लिए बहुत अधिक फायदेमंद होता है। मट्ठा प्यास को खत्म करता है और यह पित्तनाशक और वात रोग की ठीक करता है। यह आपके पाचन-तंत्र को मजबूत और सक्षम बनाता है। खाना खाने
के बाद मट्ठा पीने से खाना आसानी से पच जाता है। आइये जानते हैं मट्ठा कैसे हमें सभी बीमरियों से दूर रख सकता है।
मट्ठे के स्वास्थवर्धक फायदे
भूख न लगने की समस्या दूर होती है मट्ठा पीने से।
मट्ठे से अफरा और गैस खत्म होती है।
मट्ठा पीने से दिल से संबंधित रोग ठीक होते हैं।

मट्ठे के आयुवेर्दिक औषधिय प्रयोग

भूख बढ़ाने के लिए
ताजे मट्ठे में एक चुटकी सेंधा नमक और एक चुटकी सौंठ और एक चुटकी काली मिर्च का पाउडर मिलाकर पीने से दस्त, मरोड़ और आंव जैसे रोग ठीक होते हैं। साथ ही साथ यह भूख को भी बढ़ाता है।
कफ दूर करने के लिए
कफ की समस्या होने पर काली मिर्च, अदरक का पाउडर, मिश्री और पीपर को मट्ठे में मिलाकर सेवन करने से कफ विकार दूर होता है।

खट्टी डकार
यदि आपको खट्टी डकार आ रही हो तो मट्ठे में सौंफ का चूर्ण, सेंधा नमक की चुटकी और जीरा डालकर मिलाएं और इसे पी जाएं। ये उपाय खट्टी डकारों को बंद कर देता
है।

बवासीर और पेडू का दर्द
बवासीर, अतिसार और पेडू का दर्द होने पर केवल ताजी दही को मथकर बने हुए मट्ठे में सेंधा नमक, हींग और जीरा डालकर पीने से इन रोगों से निजात मिलता है।
गाय के दूध से बना हुआ फीका मट्ठा पीने से खून की गंदगी साफ होती है और त्वचा का रंग निखरता है। गाय के दूध का मट्ठा पीने से वात रोग खत्म होते हैं और इंसान का मन खुश भी होता है।

अजवायन और काला नमक को मट्ठे में डालकर पीने से पेट की कब्ज ठीक होती है।

सावधानी
1- अधिक देर तक रख हुआ मट्ठा नहीं पीना चाहिए। यानी बासी मट्ठा न पीएं।
2- कभी भी मट्ठे और दही को कांसे, पीतल, तांबे और एल्युमीनियम के बर्तनों में न रखें।
3- हमेशा दही या मट्ठे को मिट्टी, स्टील के बर्तन और चांदी के बर्तन में डालकर इस्तेमाल करना चाहिए।
4- टी बी के मरीजों, कमजोर लोगों, मूच्र्छा और भ्रम वाले लोगों को मट्ठे का सेवन नहीं करना चाहिए।
सर्दियों में मट्ठे का सेवन नहीं करना चाहिए। लेकिन यदि आप सर्दियों में मट्ठा पीना ही चाहते हैं तो इसमें मिश्री और जीरा मिलाकर पीयें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।