लैपटॉप बन सकता है कैंसर का कारण

मोबाईल के बाद लैपटॉप दूसरा सबसे अधिक इस्तेमाल कि जाने वाली वस्तु है। यदि आप भी लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं तो सावधान हो जाएं। लैपटॉप  के इस्तेमाल से हो सकता है कैंसर। आंखों और त्वचा को सीधा प्रभावित करती हैं लैपटॉप से निकले वाली किरणें। इसके अलावा यह  किरणें त्वचा का कैंसर पैदा कर सकती हैं। कैसे बचा जा सकता है इस कैंसर से आइये जानते हैं। नए शोध में यह बात सामने आई है कि जो लोग लैपटॉप का इस्तेमाल अपनी जांघों के उपर रख कर करते हैं। उनकी जांघों की त्वचा पर इसका खतरनाक प्रभाव पड़ता है।

रेडियों एक्टिव तरंगें पैदा करता है लैपटॉप 

लैपटॉप रेडियो एक्टिव और इन्फरा तरगों को निकालता है। जब आप इस पर काम कर रहें होते हैं तब ये किरणें सीधे आपकी त्वचा पर धीर-धीरे खून के धब्बे व निशान बनाने लगती हैं। जिस वजह से त्वचा में जलन और खुजली होने लगती हैं। यदि आप इस समस्या को नजरअंदाज करते हैं तो यह खतरनाक कैंसर क बीमारी बन सकती है।

कैसे बचा जा सकता है इस कैंसर से 

  • लैपटॉप का इस्तेमाल लगातार न करें।
  • आप बाजार से कूलींगपेड खरीद सकते हैं। कूलीगंपेड के उपर लैपटॉप  को रखकर आप काम करें। यह बेहद सस्ता आता है।
  • लैपटॉप  को अपनी जांघों पर न रखें। इसे टेबल पर रखकर इस पर काम करें।
  • गर्म होने पर लैपटॉप  को बंद कर दें।
  • लैपटॉप का अधिक इस्तेमाल से बचें।

इन छोटी-छोटी जानकारिंयों का प्रयोग करके आप इस कैंसर से आसानी से बच सकते हो।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।