किचन में छिपा है कई बीमारियों का इलाज

तबियत जब खराब होती है तो इंसान को बेचैनी हो जाती है की वह अचानक से कहां जाए। कई बार आधी रात को भी तबियत खराब हो जाती है और रोगी परेशान हो जाता है लेकिन कई बीमारियों का इलाज आपके किचन में होता है। जो आपको इन रोगों से तुरंत बचा सकता है। लेकिन इसके लिए जरूरी है आपको इस बात की जानकारी होना। यदि कुछ छोटी मोटी बीमारियों का उपचार यदि शुरू में ही हो जाए तो इनका गंभीर होने से पहले बचा जा सकता है। क्या आपको पता है किचन में रखें इन मुख्य चीजों से आप किन बीमारियों से बच सकते हो।

 

खांसी होने पर

किचन में मौजूद काली मिर्च, शहद और तुलसी के पत्तों का प्रयोग। कई बार खांसी से रोगी ज्यादा परेशान हो जाता है तब आप काली मिर्च और शहद के साथ तुलसी के पत्तों का पेस्ट मिलाकर पीएं यह खांसी ही ठीक नहीं करेगा बल्कि गले के रूखेपन और कफ में भी राहत देगा।
 
सिरदर्द में

सिर के दर्द में आप तुलसी के पत्तों को चाय में डालकर सेवन करें। या नींबू और प्याज के रस में 2 चम्मच अदरक का रस डालकर पी जाएं इससे सिर के दर्द में राहत मिलेगी। आप सरसों के तेल की मालिश भी सिर पर कर सकते हैं।
 
खाना न पचने पर यानी अपच

खाना खाने के बाद यदि अपच हो तो आप नींबू में काला नमक लगाकर चाटें। या काली राई को 2 से 4 ग्राम प्रतिदिन लें। यह अपच की समस्या को दूर करेगा।
 
पेट दर्द में
 

पेट दर्द में व्यक्ति बेचैन हो जात है और वह समझ नहीं पाता की वह क्या करे। एैसी परेशानी में आप पानी में अजवायन और हिंग का पेस्ट बना लें और इस लेप को नाभी के आस पास लगा लें। यह पेट दर्द में राहत देगा। पुदीने के रस का सेवन करने से भी पेट दर्द में राहत मिलती है।
 

अस्थमा होने पर

इस रोग के अचानक होने पर आप थोडे शहद में आधा चम्मच दालचीनी के पाउडर डालकर पीएं एैसा करने से अस्थमा में राहत मिलती है। और कुछ दिनों तक लगातार पीने से अस्थमा से निजात पाया जा सकता है।
 
  
कील मुंहासे होने पर

यदि कील मुंहासे चेहरे पर हो तो आप एक चम्मच गुलाबजल में थोडा नींबू का रस मिलाकर रूई से इसे चेहरे पर मलें  और 20 मिनट बाद इसे ताजे पानी से धो लें एैसा 15 दिनों तक करने से आपको कील मुंहासों से निजात मिलेगा।
 
गला खराब होने पर

यदि गला खराब हो तो आप तुलसी के पत्तों, लौंग और अदरक को पानी में कुछ देर तक उबालें और फिर इसे छानकर पीं लें। यह गले की समस्या से आपको राहत देगा।
 
किचन में मौजूद कुछ महत्वपूर्ण चीजों से आप इन रोगों से बच सकते हो। इसलिए जानकारी होना जरूरी है ताकि आप और आपका परिवार अचानक से होने वाली समस्याओं से बच सके। एक बात का ध्यान जरूर रखें यदि इन उपायों से समस्या का हल नहीं हो पा रहा तो आप फिर डाक्टर को जरूर दिखा लें ताकी रोग गंभीर न हो सके। आपकी सेहत आपके किचन और आपके हाथ में है।
 
 
 
  
 
  
 
 
 
  
 
  

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।