काली मिर्च के फायदे – छिपें हैं बहुत औषधीय गुण

काली मिर्च के फायदे - छिपें हैं बहुत औषधीय गुण

आज हम बात करेगें काली मिर्च के औषधीय गुण के बारे में। हम अक्सर काली मिर्च का इस्तेमाल घरों में सब्जियों व पकवानों को स्वादिष्ट बनाने के लिए करते हैं लेकिन आपके स्वास्थ्य के लिए काली मिर्च के फायदे भी बहुत हैं। काली मिर्च के औषधीय गुणों के कारण इसका इस्तेमाल विभिन्न रोग विकारों की दवाइयों में किया जाता है।

काली मिर्च के औषधीय गुण होने के कारण बहुत से लोग इसका उपयोग घरेलू उपायों में करते हैं। काली मिर्च दो तरह ही होती है काली और सफेद। जब काली मिर्च आदि पक जाती है तब काली मिर्च सफेद होती है।वनस्पति विशेषज्ञों के अनुसार पूरी तरह पक जाने पर काली मिर्च का तीखापन अपने आप कम होने लगता है। काली मिर्च का प्रयोग हम अक्सर कफ, खासी, जुकाम आदि को ठीक करने के लिए करते हैं।

इतना ही नहीं बवासीर रोग को ठीक करने के लिए भी कालीमिर्च का सेवन बहुत ही उपयोगी होता है। इसके इलावा पेट के रोग, भूख कम लगना, बदहजमी, अफारा और साँस की बीमारी जैसे दमा आदि में कालीमिर्च का सेवन बहुत ही उपयोगी होता है।

जब आप सीमित मात्रा में काली मिर्च का सेवन करते हो तब इससे आपको बहुत ही अधिक फायदे मिलते हैं जैसे कि दांत के दर्द, आँखों की रौशनी, शरीर के किसी भाग में सुजन आने पर, जुकाम होने पर, रक्त स्त्राव को बंद करने पर, गुहेरी होने पर आदि पर काली मिर्च बहुत लाभकारी होती है। आइये जानते हैं काली मिर्च के औषधीय गुण और फायदे के बारे में।

1. जुकाम होने पर

बदलते मौसम में अक्सर जुकाम की समस्या हो जाती है। ऐसे में दो ग्राम काली मिर्च का पाउडर, गुड के साथ मिलाकर खाएं। इससे आपको जुकाम में राहत मिलेगी। इसके इलावा कालीमिर्च का पाउडर सूंघने से बार बार छींकने से जुकाम से बंद नाक खुल जाती है। इसके साथ ही इससे होने वाला सिरदर्द भी ठीक हो जाता है। काली मिर्च के पांच दाने मिसरी मिले दूध के साथ निगलने से तेज जुकाम भी जल्दी से ठीक हो जाता है।

2. आँखों के रोगों के लिए

आँख की समस्या होने पर काली मिर्च

आँख की समस्या होने पर काली मिर्च और शक्कर मिलाकर एक मिश्रण तैयार करें। फिर इसका सेवन नियमित रूप से करें। इससे आँख के अनेक रोग ठीक हो जाते हैं।

3. नाक का रक्त स्त्राव बंद करें

अगर काली मिर्च के फायदे की बात करें तो जब भी नकसीर या नाक का रक्त स्त्राव होता है  तब काली मिर्च को अच्छे से पीस लें। फिर उसे दही में मिला लें और उसका सेवन दही के साथ करें। इससे आपको बहुत फायदा मिलेगा।

4. काली मिर्च से बनाये शरीर का कायाकल्प ड्रिंक

इस ड्रिंक को तैयार करने के लिए पांच काली मिर्च को पीसकर पानी में भिगो दें। फिर इस पानी को उबाले और छानकर इसका सेवन करें इस ड्रिंक में एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं जो आपको कैंसर से बचाने में मदद करता है। इसमें मौजूद पोटेशियम से ब्लडप्रेशर कंट्रोल में रहता है। कार्बोहाइड्रेट्स से शरीर की कमजोरी दूर होती है।

काली मिर्च को गुनगुने पानी में मिलाकर पीने से बॉडी को भरपूर आयरन मिलता है। यह एनीमिया यानि खून की कमी से भी बचाता है। यह जाइंट पैन से बचाव करता है। इससे बॉडी के जहरीले पदार्थ यानि टाक्सिंस दूर होते हैं। यह कब्ज को भी दूर करता है। इससे बॉडी का मेटाबालिज्म बढ़ता है। इसका सेवन करने से वजन तेजी से कम करता है साथ ही शरीर में नमी बनी रहती है। इसके इलावा चेहरे की चमक बढाने में भी यह सहायक होता है।

5. गुहेरी निकलने पर

आँखों की पलकों के किनारे निकलने वाली गुहेरी पर काली मिर्च को पानी में पीसकर लेप लगाएं। इससे आपको बहुत ही फायदा प्राप्त होता है।

6. छाती दर्द होने पर

सर्दी में होने वाले छाती का दर्द को ठीक करने के लिए काली मिर्च का सेवन बहुत ही फायदेमंद होता है। इसका सेवन करने से कफ भी सरलता से निकल जाता है। आप इसका सेवन चाय या दूध में मिलाकर कर सकते हैं।

7. माइग्रेन होने पर

आधे सिर की दर्द होने पर या माइग्रेन की समस्या होने पर काली मिर्च को घी में घिसकर बूंद बूंद कर नाक में टपकाएं। आपको फायदा मिलेगा।

8. पेट दर्द होने पर

काली मिर्च के औषधीय गुण में एक गुण यह हैं कि इसका प्रयोग पेट दर्द के लिए किया जाता है। इसके लिए नींबू और अदरक के पांच पांच ग्राम रस में एक ग्राम काली मिर्च का पाउडर मिलाकर सेवन करें।

9. रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढायें

सुबह सुबह गर्म पानी के साथ कालीमिर्च का सेवन करने से शरर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसके इलावा ये हमारे बॉडी सेल्स को भी पोषण देने का काम करती है। काली मिर्च के फायदे में यह भी एक बड़ा फायदा गिना जाता है।

10. खांसी होने पर

खांसी होने पर - Black Pepper benefits in hindi

अगर आप खांसी कर करके परेशान हो गए है तब ऐसे में आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर और आधा चम्मच शहद मिलाकर दिन में तीन से चार बार सेवन करने से खांसी दूर हो जाती है।

11. गैस की शिकायत होने पर

काली मिर्च के औषधीय गुण में एक गुण यह है कि यह गैस की शिकायत दूर करती है। गैस की शिकायत होने पर एक कप पानी में आधे नींबू का रस डालकर आधा चम्मच काली मिर्च का पाउडर और आधा चम्मच काला नमक मिलाकर इसका सेवन करें नियमित रूप से इसका सेवन करने पर गैस की शिकायत दूर होती है।

12. गला खराब होने पर

गला खराब होने पर कालीमिर्च में घी और मिश्री के साथ मिलकर लेने से बंद गला खुल जाता है। जब आप कालीमिर्च का सेवन नियमित रूप से करते हो तब आपकी आवाज मीठी होती है। इसके इलावा गले में किसी तरह का इन्फेक्शन होने पर कालीमिर्च को पानी में उबालकर गरारे करने से गले की दिक्कत दूर हो जाती है।

13. मोटापा कम करें

काली मिर्च का पाउडर शहद के साथ रोजाना सेवन करने से शारीरिक मोटापा धीरे धीरे कम होने लगता है।

14. मलेरिया बुखार होने पर

मलेरिया बुखार होने पर काली मिर्च के पांच दाने, अजवाइन एक ग्राम और हरी गिलोय दस ग्राम लें और इन सभी चीजों को 100 ग्राम पानी में उबालें, बाद में इसे छान लें। इसका सेवन सुबह शाम करने से आपको फर्क खुद ही नजर आने लगेगा। इसलिए काली मिर्च के फायदे में इसका जिक्र करना भी जरुरी है।

15. फोड़े फुंसी दूर करने के लिए

फोड़े फुंसी, दाद जैसे रोग को दूर करने के लिए काली मिर्च को बारीक पीसकर घी में मिलाकर लेप लगाएं। इससे आपके यह रोग दूर हो जायेगें।

16. पाचन शक्ति को मजबूत करें

पाचन शक्ति को मजबूत करने के लिए कालीमिर्च, पीपल, जीरा, सेधा नमक और सोंठ को बराबर मात्रा में लें और इन्हें पीसकर एक पाउडर तैयार कर लें। इस पाउडर के एक चम्मच का सेवन भोजन के बाद करें। इससे आपको फायदा मिलेगा।

17. दांत दर्द होने पर

दांत दर्द होने पर काली मिर्च को पानी में उबालकर, छानकर रखें। इस पानी से गरारे करें। इससे दांत का दर्द ठीक हो जाता है साथ ही बैठा हुआ गला भी ठीक हो जाता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।