काली मिर्च और जीरे से बने दूध के फायदे

health-benefits-to-drink-milk-with-jeera-pepper

यदि आप बीमारियों से अपने आपको पहले से बचाने में सक्षम हैं तो कोई भी बीमारी आपको आसानी से नहीं लग सकती है। एैसा तब होता है जब आप अपनी सेहत के प्रति जागरूक हैं और आपको पता हो किस बीमारी से बचने के लिए क्या.क्या उपाय किया जाता है। लेकिन अक्सर लोग बीमारियों को हल्के में लेते हैं जिसका परिणाम उन्हें अस्पतालों को मोटी रकम चुका के करना पड़ता है।
वैदिक वाटिका आपको बता रही है काली मिर्च और जीरे के चूर्ण से बने दूध के आयुवेर्दिक उपाय जिसे आप अपने घर में ही बना सकते हैं और अपने आप को कई गंभीर रोगों से भी बचा सकते हैं।

हम बात कर रहे हैं जीरे और काली मिर्च के चूर्ण से बने हुए दूध की। यदि आप काली मिर्च और जीरे के चूर्ण से बने हुए दूध का सेवन करते हैं तो इससे आपको एैसे फायदे मिल सकते हैं जिनसे न केवल आप स्वस्थ रहेगें अपितु आपके चेहरे की रौनक भी दमकेगी।

काली मिर्च और जीरे से बने दूध के फायदे
काली मिर्च और जीरे के चूर्ण को जब दूध में घोला जाता है तब उच्च गुणवत्ता वाली पौष्टिक चीजों से हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ जाती है। और शरीर बीमारियों से लड़ने में सक्षम बन जाता है।

सबसे पहले हम जानते हैं कैसे और कितनी मात्रा में आपको इस दूध को बनाना है और आपको क्या.क्या सामग्री इसमें मिलानी है।

साम्रगी

काली मिर्च का चूर्ण आधा चम्मच
दूध एक गिलास और
जीरा चूर्ण भी एक चम्मच।

बनाने का तरीका

आप सबसे पहले दूध को भगोने या पैन में गर्म कर लें।
अब पिसा हुआ जीरा और पिसी हुई काली मिर्च के चूर्ण को इस दूध में डालकर अच्छे से घोल लें।

अब आप इस दूध का सेवन कर सकते हो।

किन-किन बीमारियों में फायदा देता है ये दूध

इस दूध को पीने से ठीक होने वाली बीमारियां है जैसे वायरल होता बुखार, सर्दी, अपच और जुखाम आदि। इसके अलावा यह आपके पाचन तंत्र को भी मजबूत बनाता है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।