काली गर्दन का घरेलू इलाज

बहुत बार ऐसा देखा जाता है कि लोगों रंग तो साफ और सुंदर होता है लेकिन गर्दन बहुत ही काली। काफी लोग परेशान रहते हैं इस समस्या से। अक्सर महिलाएं और पुरूषों में गर्दन काली होने की समस्या अधिक रहती है। चेहरे पर तो कई तरह की प्राकृतिक चीजों सुंदरता और निखार आता है। लेकिन काली गर्दन के लिए क्या करें। चलिए जानते हैं कैसे पाएं इस समस्या से राहत। वैदिक वाटिका आपको बता रही है।

गर्दन काली होने का मुख्य कारण है धूप और प्रदूषण का सीध गर्दन पर पड़ना। दूसरा कारण है स्नान के समय गर्दन पर ध्यान न देना।

काली गर्दन को गोरा बनाने के घरेलू टिप्स
शहद और नींबू का प्रयोग
दो चम्मच शहद में एक नींबू का रस मिलाकर लेप बनाएं। और इसे थोड़़ी देर के लिए गर्दन पर लगा रहने दें। और बाद में इसे किसी कपड़े से साफ कर लें और इसके बाद गर्दन को पानी से धोएं।

नींबू का स्क्रब
नींबू एक प्राकृतिक स्क्रब है। एक नींबू को काट लें और स्नान करने से पहले नींबू को अपनी गर्दन पर रगड़ें। इस उपाय को सप्ताह में दो दिन करें। इस उपाय से आपकी काली गर्दन साफ होगी।

ओटमील का प्रयोग
काली गर्दन को साफ और गोरा बनाने के लिए आप ओटमील का स्क्रब बनाकर इसका इस्तेमाल कर सकते हो।
कैसे बनाएं ओटमील का स्क्रब
एक चम्मच शहद
एक कटोरी पिसा हुआ ओटमील
दो चम्मच टमाटर रस।
इन सबको आपस में मिला लें और स्क्रब की तरह इसे गर्दन पर लगा लें। और आधे घंटे के बाद गर्दन साफ कर लें। इस घरेलू उपाय को सप्ताह में दो बार ही करें। आपको जल्दी ही नतीजे दिखने लगेगें।

पपीता का इस्तेमाल
गर्दन में कालापन आना एक सामान्य समस्या है। काली गर्दन का रंग साफ करने के लिए आप कच्चे पपीते को पीस कर उसके पेस्ट में दही की एक चम्मच और दो चम्मच गुलाब का जल बनाकर एक लेप बनाएं। और इसे गर्दन पर लगा कर आधे घंटे के लिए छोड़ दें और सूखने के बाद पानी से गर्दन धो लें। बेहतर परिणाम के लिए इस नुस्खे को सप्ताह में दो बार इस्तेमाल करें।

बेकिंग सोड़ा भी है फायदेमंद
प्राकृतिक ब्लीच का काम करता है बेकिंग सोडा जो काली गर्दन का रंग निखार देता है। एक चम्मच बेकिंग सोडे में पानी की एक से दो बूंदे डाल कर लेप बनाएं।
और इसे काली गर्दन के उपर लगाएं। इस उपाय से कुछ ही दिनों में आपको काली गर्दन की समस्या से राहत मिल जाएगी।

गर्दन काली होने से बचाने के लिए आप कुछ अन्य उपाय भी करने है।

  • गर्मियों में चेहरे के साथ गर्दन को भी कपड़े से ढकें।
  • पानी अधिक मात्रा में सेवन करें।
  • फल और जूस का सेवन करें। क्योंकि गर्दन आपकी त्वचा से ही जुडी हुई होती है।
  • नहाते समय गर्दन को भी अच्छे से साफ करें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।