काले घोड़े की नाल – क्यों और कैसे करें इस्तेमाल

काले घोड़े की नाल को शुभ माना जाता है। ज्योतिष शास्त्र में काले घोड़े के पैरों में शनि का प्रभाव होता है। जिस वजह से यह आपको कई तरह की समस्याओं से बचाता है। घोड़े की नाल उसके पैरो में होती है। वैदिक वाटिका आपको ज्योतिष के अनुसार कैसे और कौन सी घोड़े नाल का इस्तेमाल करना चाहिए के बारे में पूरी जानकारी दे रही है।

काले घोड़े की नाल

 

घर के मेन गेट पर काले घोड़ी की नाल लगाने से घर पर किसी तरह की बुरी नजर नहीं लगती है।

घर के मेन गेट पश्चिम में अथवा उत्तर-पश्चिम दिशा में हो या उत्तर दिशा में तो गेट के उपर बाहर की तरफ से ही घोड़े की नाल जरूर लगानी चाहिए। वास्तु के अनुसार 

ऐसा करने से घर की रक्षा होती है साथ ही परिवार के लोगों को भी सकारात्मक उर्जा मिलती है।

एैसी मान्यता है कि शनि देव मेहनती लोगों से खुश रहते हैं इसलिए काले घोड़े की नाल तभी घिसती है जब वह दौड़ता है। काला घोड़ा यानि शनि आपको प्राकृतिक शक्ति प्रदान करता है। जिससे आप बीमारियों और अन्य बुरी शक्तियों से बचे रहते हो।

काले घोड़े की नाल को हाथ में पहनने से शनि दोष नहीं लगता है। साथ ही आप कई खतरनाक व आकस्मिक चीजों से भी बचते हो।

काले घोड़े की नाल तभी अधिक प्रभावशाली व असरदार होती है जब वह ज्यादा घिस चुकी हो। अक्सर देखा गया है कि जानबूझकर लोग काले घोड़े के पांव में नाल लगाते हैं और उसे जल्दी ही बेच देते हैं। या फिर सफेद घोड़े को पेंट करके उसे काला किया जाता है और उसकी नाल भी बेची जाती है। लेकिन एैसी नाल का कोई फायदा नहीं होता है।

काले घोड़े की नाल अंग्रेजी का यू ( U )आकार जैसा होना चाहिए।

शनि से संबंधित हर प्रकार की समस्या का निवारण करती है काले घोड़े की नाल।

काले घोड़े की घिसी हुई नाल को घर के मेन गेट पर लटकाने से घर में शनि का प्रकोप खत्म होता है और आपके घर में समृद्धि, धन और शांति आती है। 

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।