कद बढ़ाने के आसान आयुवेर्दिक तरीके

उंचा कद होना हर इंसान की चाहत होती है। लेकिन फिर भी यदि कद छोटा रह जाए तो इस वजह से बड़ी परेशानी होती है। कद का लंबा होना या छोटा होना इसके पीछे अनुवांशिक कारण हो सकते हैं। कद बढ़ाने के लिए हमारे आयुर्वेद में कई उपायों के बारे में बताया गया है। जिन्हें वैदिकवाटिका आपको बता रही है।

कद बढ़ाने के आसान आयुवेर्दिक तरीके

 

 

आयुर्वेद में सूखी नागौरी और अश्वगंधा को  शरीर विकास में सहायक बताया गया है। 

बनाने की विधि

चीनी दो सौ ग्राम

सूखी नागौरी दो सौ ग्राम

अश्वगंधा 200 ग्राम

अश्वगंधा की जड और सूखी नागौरी दोनों को अच्छे से बारीक पीस लें। और बराबर मात्रा में इसमें चीनी मिलाकर इसे किसी शीशी में डालकर रख लें। रात को सोने से पहले 10 ग्राम की मात्रा में इसे गाय के दूध के साथ मिलकार सेवन करें। इस उपााय लगातार 40 दिनों तक करें।

 

दूसरा उपाय

अश्वगंधा और काले तिल भी कद को बढ़ाने का काम करते हैं।

  • 100 ग्राम अश्वगंधा चूर्ण। 
  • 100 ग्राम काले तिल। 
  • पांच खजूर। 
  • 10 ग्राम गाय का घी। 

बनाने की विधि

100 ग्राम काले तिलों और 100 ग्राम अश्वगंधा के चूर्ण को बारीक पीस लें और इसे किसी बर्तन में रख दें। 

सेवन करने का तरीका

रोज गाय के घी में इस चूर्ण को 3 ग्राम की मात्रा में मिलाएं। और पांच खजूरों को भी मिलाकर कम से कम एक माह तक सेवन करने से फायदा मिलता है। ये उपाय कद बढ़ाने के साथ शरीर को ताकत भी देता है। और पुरूषों में वीर्य को भी बढ़ाता है।

अश्वगंधा चूर्ण

अश्वगंधा चूर्ण भी कद को बढ़ाने का काम करता है।

  • चीनी 225 ग्राम। 
  • 250 ग्राम दूध। 
  • अश्वगंधा की जड़ 225 ग्राम। 

 

सेवन करने का तरीका

अश्वगंधा की जड़ का चूर्ण बना लें। और इसमें चीनी मिला लें। इस मिश्रण का 10 ग्राम एक गिलास दूध में मिलाकर कम से कम दो महीने तक सेवन करें। ये उपाय शरीर का कद बढ़ाने के साथ शरीर को ताकतवर भी बनाता है।

 

अन्य उपाय 

  • फल और मेवे अपने खाने में शामिल करें।
  • चालीस ग्राम अखरोट की गिरी रोज खाने से भी लंबाई बढ़ती है।

इन उपायों को करते समय इन बातों का ध्यान रखें

  • अधिक खटाई से परहेज करें।
  • जंक फूड और फास्ट फूड को खाना बंद कर दें।
  • अधिक मसाले और मिर्च खाने से परहेज करें।     READ-ताड़ासन की विधि और फायदे

योग 

भुजंगासन और ताड़ आसन रोज करें।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।