कान की समस्या – कारण और उपाय

आज का मनाव जिस तरह से प्रगती के पथ पर चल पड़ा है उसी तरह बीमारियों को भी इंसान आसानी से पाता जा रहा है। हर व्यक्ति के पास आजकल  मोबाईल, लैपटाप और ब्लूटूथ और न जाने कितने संसाधन होते हैं जिनके बिना वह एक पल भी नहीं रह सकता है। ऐसे में सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बीमारी है कान की। आज हर दूसरा इंसान कान की समस्या से परेशान है। कान शरीर का बेहद नाजुक हिस्सा है। कान की बीमारी होने के कुछ मुख्य कारण होते हैं जिनके बारे में जानना बेहद जरूरी है।

कान की बीमारी का कारण

हर समय कान में संगीत का बजना

जैसा की कहा गया है कि हर इंसान के पास मोबाईल फोन है और दिन भर कान में हेड फोन्स लगाए रहता है। हमेशा संगीम बजते रहने से भी नई-नई बीमारियां पैदा होती हैं। कान में लीड लगाकर संगीत सुनने से कानों का संतुलन खराब हो जाता है और कम उम्र में ही कम सुनाई देना, कान का बहना और कान में फंगस का जमना आदि रोग होने लगते हैं।

हर इंसान के तीनों अंग कान-मस्तिष्क और नाक आपस में एक दूसरे से जुड़े हुए होते हैं। ऐसे में हर समय कानों में संगीत का बजना पूरे सिर को दर्द देने लगता है।

कान की समस्या से बचने के उपाय

कान में तेल डालना

हमें कम से कम महीने में एक बार कान में गुनगुना तेल जरूर डालना चाहिए। इससे कान में जमा मैल आसानी से बाहर निकल जाता है। यह तेल सिर्फ शुद्ध सरसों का ही होना चाहिए। तेल डालने से कान का पर्दा भी साफ रहता है।

खुद लापरवाही न करें

अक्सर यह देखा जाता है कि बातों-बातों में लोग कानों में माचिस, पेन व उंगली से खुजली करने लगते हैं। यह बहुत ही गलत आदत है। कुछ देर के लिए यह आपको राहत दे सकती है लेकिन आपके कानों के पर्दे की उम्र कम कर देती है। ऐसा इसलिए क्योंकि कान के पर्दे नाजुक होते हैं जो किसी नुकीली वस्तु के इस्तेमाल से हट जाते हैं। और कम उम्र में ही अच्छी तरह से सुनाई देना बंद हो जाता है। कानों की सफाई हमेशा ईयर बड़ से ही करें। 

कानों की निरंतर सफाई करना

हमें कानों को निरंतर साफ करते रहना चाहिए। क्योंकि घर से बाहर जाते समय ही कानों में भी प्रदूषण चला जाता है। और कानों के अंदर मैल जम जाता है। और इसे समय पर साफ न किया जाए तो कान पक जाता है जिससे यह फंगस का रूप ले लेता है। 

आपको इस बात को हमेशा याद रखना है कि यह दुनिया देखने और सुनने से ही सुंदर और अच्छी लगती है।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।