जड़ी बूटियों द्वारा स्वास्थ्य संरक्षण

जड़ी-बूटियां न केवल शरीर को स्वस्थ बनाए रखती है बल्कि यह शरीर को सुंदर और आर्कषक भी बनाने का काम करती है। प्राचीन समय से ही जड़ी बूटियों का इस्तेमाल सौंदर्य और चेहरे की रौनक को बढ़ाने के लिए किया जाता रहा है। वैदिक वाटिका आपको इन प्राचीन जड़ी बूटियों के बारे में बताएगा जिनसे आपकी त्वचा और रंग रूप दोनों ही आकर्षक बनेगें। (Herbal Beauty Tips)

प्राकृतिक जड़ी बूटियों को इस्तेमाल करने के तरीके
 
1. पुदीने और तुलसी के पत्तों को 10-10 ग्राम की मात्रा में मिला लें और इसे त्वचा पर लगाएं। एैसा करने से त्वचा का रंग निखरता है।

2. ताजे पानी में मेथी के पत्तों को पीसकर बालों पर आधे घंटे तक लगाकर रखें। और बाद में नहा लें। एैसा करने से बाल प्राकृतिक रूप से काले और लंबे होने लगते हैं।

3. जटामांसी की जड़ को अच्छे से पीस लें और उसमें थोड़ा गुलाब जल मिलाकर चेहरे पर लगाएं। एैसा करने से चेहरे की रंगत निखरती है।

4. बादाम की गिरी को पानी के साथ घिसकर चेहरे पर लगा लें और इसे 15 मिनट तक सूखने दें। और ठंडे पानी से चेहरा धो लें।

5. आंवले के चूर्ण को शरीर पर मलकर 10 मिनट बाद स्नान करें। एैसा करने से त्वचा दमकती है।

6. पीसी हुई हल्दी में मक्खन को मिलाकर चेहरे पर लगाने से त्वचा खिलती है।

7. नींबू के रस में सूखे आंवले का चूर्ण मिलाकर लेप बनाएं और इसे बालों की जड़ों पर लेप करें। इस तरीके से बाल काले होते हैं।

8. गुलाबजल को पानी में मिलाकर नहाने से पसीने से होने वाली दुर्गंध दूर हो जाती है।

9. शहद और दूध को मिलाकर चेहरे और हाथ-पैरों पर लगाने से त्वचा आकर्षक और सुंदर होती है।

10. चेहरे पर निखार लाने और चेहरे का कालापन दूर करने के लिए नहाने से पहले बेसन को दही में मिलाकर लेप बनाएं और इसे त्वचा पर  15 मिनट तक लगा के छोड़ दें। फिर नहा लें।

11. जैतून के तेल में पिसा हुआ खीरा मिलाकर चेहरे पर लगाने से चेहरा कोमल और अच्छा बनता है।

ये प्राकृतिक जड़ी बूटियां चेहरे को कभी जल्दी से खराब नहीं होने देगें। इसलिए नियमित रूप से इनका इस्तेमाल करना सेहत और सौंदर्य दोनों के लिए फायदेमंद है।

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।