कलौंजी के लाभ

कलौंजी के दाने काले रंग के होते हैं और बेहद खुशबूदार भी। कलौंजी सेहत के लिए बेहद शक्तिशाली औषधि है। कलौंजी में गोंद, टैनिन, मैलेंथेजैनिंन आदि तत्व पाए जाते हैं।कलौंजी केवल मसाला ही नहीं है यह कई तरह की बीमारियो की रोकथाम की एक कारगर घरेलू दवाई है। इसे मंगरैल भी कहा जाता है। कलौंजी में मौजूद एंटी आक्सीडेंट कैंसर जैसी घातक बीमारी से इंसान को बचाती है। कलौंजी का प्रयोग तेल के रूप में भी किया जाता है। वैदिक वाटिका आपको कलौंजी के एैसे उपयोगों के बारे में बता रहा है जो कई तरह की बीमारियों की रोकथाम कर सकती है।

दे कफ में राहत
यदि लंबे समय से कफ की परेशानी हो रही हो तो कलौंजी के तेल का प्रयोग खाना बनाने में करें। यह कफ और गले संबंधी रोगों में लाभ देगा।

दिल की बीमारी में
कलौंजी का तेल दिल संबंधी बीमारीयों को कम करने में बेहद फायदेमंद औषधि है। आधा चम्मच कलौंजी को 1 कप दूध में मिलाकर प्रतिदिन सेवन करें। साथ ही साथ चिकनाई वाली चीजों से परहेज करें।

आंखों की बीमारी में
यदि आंखों में मोतियाबिंद हो या आंखे कमजोर हो गई हों तो कलौंजी के तेल की दो चम्मच गाजर के जूस में मिलाकर सुबह शाम दो बार सेवन करें।

कैंसर को रोके
कलौंजी कैंसर की बीमारी से भी बचाती है। शुरूआती कैंसर को रोकने के लिए आधी चम्मच कलौंजी के तेल को 1 गिलास अंगूर के रस में मिलाकर दिन में 3 बारी लें। और अपने भोजन में लहसुन का सेवन जरूर करें।

सूजन में राहत
कलौंजी के तेल को नियमित लगाने से पैरों और हाथों की सूजन दूर होती है। साथ ही यह चर्म रोग को भी दूर करता है।

चेहरे की समस्या
चेहरे से मस्सों को हटाने के लिए कलौंजी के दानों को सिरके के साथ पीसकर रात को मस्सों पर लगाएं। और सुबह पानी से साफ कर लें। कुछ दिनों तक नियमित करने से मस्से चेहरे से हट जाते हैं। और चेहरे से मुंहासे भी हट जाते हैं।

सिर दर्द में
सिर दर्द होने पर जीरा और कलौंजी को बराबर मात्रा में मिलाकर पीस लें और इस लेप को सिर पर लगाएं। फायदा मिलेगा।

पथरी से राहत
कलौंजी पथरी से निजात दिलावाने की अचूक औषधि है। पथरी को गलाने के लिए पानी में कलौंजी को पीस लें और इसे शहद के साथ मिलाकर सेवन करें।

बवासीर में कलौंजी
बवासीर की परेशानी होने पर कलौंजी को अच्छे से जलाकर राख बना लें। और उस राख को बवासीर के मस्सों पर लगा लें।

गंजेपन से मुक्ति
कलौंजी के पाउडर को सरसों के तेल के साथ मिलाकर सिर पर नियमित लगाने से गंजापन दूर होता है।

बाल झड़ने से रोके
यदि बाल झड़ रहे हों तो कलौंजी को अच्छे से पीसकर उसका बारीक लेप बना लें और इस लेप को पूरे  सिर पर अच्छे से लगायें। कुछ दिनों तक नियमित इस प्रयोग को करने से बाल गिरने कम हो जाएगें।

कपड़ों को कीड़े से बचाए
कलौंजी उनी कपड़ों को कीडे़ लगने से बचाती है। उनी कपड़ों के बीच में कलौंजी डाल दें इससे कपड़ों पर कभी कीड़े नहीं लगेंगे।

बुखार का चढ़ना व उतरना
यदि बार-बार बुखार चढ़ता-उतरता है तो इस समस्या से निजात पाने के लिए कलौंजी को पीसकर चूर्ण बना लें और उसमें गुड मिलाकर लड्डू की तरह बनाकर सेवन करें। आपको इस समस्या से फायदा होगा।

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।