खाली दिमाग टहलने के फायदे

खाली दिमाग टहलना सबसे बेहतर व्यायाम है। जो लोग कठिन व्यायाम या कड़ी मेहनत वाले योग नहीं कर सकते उनके लिए सुबह उठकर टहलना एक ऐसी प्रक्रिया होती जिसमें व्यायाम और मनोरंजन दोनों एक साथ हो जाते हैं। सुबह की ताजी हवा में तेज चाल से टहलने की आदत डालनी चाहिए यह शरीर के लिए बेहद उपयोगी आदत है। एैसा करने से दिमाग और मन दोनों को ही लाभ मिलता है। पुरूषों, महिलाओं और बच्चों के लिए टहलना उन्हे कई तरह की बीमारियों से बचाता है। आइये जानते है खाली दिमाग टहलने के फायदे।

टलने से दूर होती हैं बीमारियां
1. सुबह के टहलने में इतनी शक्ति होती है कि यह शारीरिक व मानसिक रोगों को आसानी से दूर करती है।
2. सिर का भारीपन, पेट में कब्ज की समस्या सुबह के टहलने से दूर होती है।
3. तबीयत खराब हो रही हो या उल्टी की समस्या हो एैसे में चारपाई पर लेटे रहने की उपेक्षा अच्छा है कि 1 गिलास पानी पीकर हल्के-हल्के टहला जाए। एैसा करने से रोगी जल्दी ठीक हो जाता है।
4. सुबह का टहलना दिल संबंधी रोगों से भी बचाता है।

अनसुलझी सुलझनों को सुलझाता है
कई बार एैसा होता है कि हम किसी उलझन में फंस जाते हैं और समझ में नहीं आ रहा होता है कि क्या करें। मन बड़ा परेशान होता है। यदि दो काम एक साथ आ जाए और कुछ समझ न आ रहा हो की इन दो कामों में से पहले किसे किया जाए? एैसी उनसुलझी गुत्थीयों को ठीक तरह से सुलझाने का सबसे आसान तरीका है दिमाग को खाली करके थोड़ी देर के लिए टहलने के लिए निकल जाएं। आपको आपकी समस्या का हल आसानी से मिल जाएगा।

भूलने की समस्या का हल है
आपको कभी एैसा एहसास होता होगा कि आप किसी चीज को रखकर भूल गए हों। इंसान की स्मरण शक्ति कभी-कभी काम करना बंद कर देती है जिस वजह से वह खुद से ही रखी चीजों को भूल जाता है। एैसे में आप जितना दिमाग पर जोर डालते हो उतना ही समस्या बढ़ती चली जाती है। लेकिन ऐसे में सबसे अचूक दवा है आप अपने दिमाग को बिलकुल खाली कर दें और कहीं छाया वाली जगह पर टहलें या किसी हरे पेड़ की छाव में बांयी ओर करवट लेकर लेट जाएं। जो चीज आप रखकर भूल गए हो वो आपको तुरंत थोड़ी देर में याद आ जाएगी।

गुस्से को शांत करता है
घर या आफिस में कई बार लड़ाई-झगड़ा हो जाता है जिसकी मुख्य वजह होती है गुस्सा। छोटी-छोटी बातों पर लड़ाई बढ़ जाती है। एैसे में चुपचाप से निकल कर थोड़ी देर के लिए टहलने के लिए निकल जाएं। क्योंकि गुस्से में यदि जवाब पर जवाब दिया जाए तो लड़ाई बढ़ती है और इस वजह से इंसान को कई तरह का नुक्सान हो सकता है। आपको जब भी लगे की सामने वाला पक्ष ज्यादा हावी हो रहा है तो एैसे में उससे वाद विवाद न करें और टहलें। इससे सामने वाले को भी आपके प्रति विचार करने का एक मौका और मिल जाता है।

व्यापार में हो रही समस्या का भी निदान है टहलना
व्यापार व धंधे में ऐसी उलझनें आती है कि क्या कदम लें और क्या न उठाया जाए आदि। क्या करने से नुक्सान हो सकता है और क्या करने से फायदा। एैसे में दोस्तों की सलाह से भी मन नहीं मानता है। जब भी आपको इस तरह की समस्या आए आप अपने दिमाग को खाली रखें और टहलने के लिए निकल जाएं। आपको जरूर अपनी समस्या का हल मिलेगा।

खाली दिमाग टहलना आपको शारीरिक और मानसिक दोनों तरह से मजबूत बनाता है। जब भी आप खाली दिमाग से कुछ भी सोचते हो तो वह आपके हित के लिए ही होता है। जितने भी महान इंसानों ने इस धरती पर जन्म लिया उन्होंने खुद से बातें करना सीखा। इसलिए रोज सुबह जल्दी उठकर टहलने की आदत डालें। ये भी पढे-वजन कम करने के घरेलू उपाय

sehatsansar youtube subscribe
डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।