ज़मीन पर सोने के फायदे

जैसे-जैसे जमाना बदला रहा है  वैसे-वैसे लोगों की जीवनशैली भी बदल रही है साथ ही लाइफस्ठाइल में भी परिर्वतन होने  लगा है। आरामदायक बिस्तर पर सोने का  अलग ही आनंद आता है लेकिन इससे कई रोग भी होते है पर क्या आपको पता है जमीन पर लेटने के कई फायदे हो सकते हैं। जो शायद ही आपको मालूम हो। प्राचीन समय में हमारे देश में योगी जमीन पर ही लेटा करते थे जिसकी वजह से वे कभी बीमार नहीं होते थे और लंबी उम्र तक जीते थे। वैदिक वाटिका आपको जमनी पर लेटने के फायदों को बताएग जिनसे आप भी कई रोगों से बच सकते हो और स्वस्थ जीवन जी सकते हो।

कमर दर्द
जमीन पर लेटने का सबसे बड़ा लाभ है कि आपको कभी भी पीठ या कमर का दर्द नहीं होगा। जमीन पर लेटने से रीढ़ की हड्डी सही दिशा में और सीधी होती है। जिससे कमर का दर्द खत्म होता है।

नींद न आने की समस्या
जिन लोगों को नींद न आने की समस्या होती हो वे फर्श पर सोना शुरू करें। जमीन पर दरी बिछाकर सोने से अनिंद्रा की समस्या दूर होती है।

शरीर में खून का संचार
जमीन पर सोने से शरीर में खून का संचार ठीक तरह से होता है जिससे दिमाग और शरीर दोनों ठीक रहते हैं। क्योकी अच्छे से सोने से भी कई तरह की बीमारीयां ठीक होती हैं।

कंधे सीधे होते हैं
यदि कंधों की कोई परेशानी हो तो इसका सिर्फ एक ही इलाज है फर्श पर सोना। यदि गर्दन में दर्द की समस्या भी हो तो जमीन पर सोएं।

आरामदायक होता है
जमीन पर सोने से आपको बेड़ की तुलना में अधिक आराम और थकान जल्दी दूर होती है। बेड पर सोने से पहले शरीर को बिस्तर से तालमेल बिठाना पड़ता है लेकिन  फर्श पर सोने से एकदम से आपको राहत मिलती है। जिससे आपकी थकाना और टेंशन दोनो ही दूर होती है।

मांसपेशियों के दर्द का इलाज है
जमीन पर लेटने से आपको कभी भी हिप्स में दर्द की समस्या नहीं होगी। जमीन पर सोने से कमर और कूल्हों का सही तालमेल बैठता है जिस वजह से कूल्हों में दर्द नहीं होता है।

बैचेनी की परेशानी को दूर करता है
जमीन पर सोने से बैचेनी दूर होती है। क्योकी बेड पर सोने से कभी-कभी शरीर अकड़ा सा रहता है।

इसके अलावा भी कई एैसे फायदे है
फर्श पर सोने के फायदे
अच्छी नींद और जमीन से जुड़ाव के साथ आपको ताजगी महसूस होगी और हमेशा स्वस्थ भी रहोगे।

जमीन पर सोने से आपको बहुत फायदे मिलते हैं लेकिन थोड़ी बहुत सावधानी की भी जरूरत होती है। जैसे फर्श साफ-सुतरा हो। इसलिए जमीन पर सोने से पहले उसे साफ कर लें ताकि कीड़े व कानखजूरे न आ सकें। ठंड के मौसम में जमीन पर न लेटें क्योंकि एैसा करने से ठंड शरीर में प्रवेश कर जाती है। ये भी पढे-क्या करें जब घर से निकलें

डिसक्लेमर : sehatsansar.com में जानकारी देने का हर तरह से वास्तविकता का संभावित प्रयास किया गया है। इसकी नैतिक जिम्मेदारी sehatsansar.com की नहीं है। sehatsansar.com में दी गई जानकारी पाठकों के ज्ञानवर्धन के लिए है। अतः हम आप से निवेदन करते हैं की किसी भी उपाय का प्रयोग करने से पहले अपने चिकित्सक से सलह लें। हमारा उद्देश्य आपको जागरूक करना है। आपका डाॅक्टर ही आपकी सेहत बेहतर जानता है इसलिए उसका कोई विकल्प नहीं है।